Movie prime
अंतरिक्ष में जाने वाली तीसरी महिला बनेगी सिरिशा बांदला, कल होगी रवाना जाने उनसे पहले और कौन गया 
 

नमस्कार दोस्तों आप सभी तो अच्छे से जानते है भारत को गर्व महसूस कराने के लिए जितना काम मर्दों ने किया है उतना ही भारत की औरतों/लड़कियों ने किया है। चाहे दुनिया के किसी भी क्षेत्र में भारतीय रहे रहा हो मगर उसने अपने देश का नाम अच्छे से रोशन किया है। आपको बता दूँ की कल 11 जुलाई 2020 के दिन को स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाने वाला है क्योकि कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद एक बार फिर भारत देश की बेटी अंतरिक्ष में जाने के लिए पूरी तरह तैयार है वाली अगर सब सही रहता है तो सिरिशा बांदला अंतरिक्ष में जाने वाली भारत में जन्मी/भारत की दूसरी बेटी बन जायगी। 

कितने लोग साथ जायगा 

भारत की एक और बेटी अंतरिक्ष में उड़ान भरने के लिए कल पूरी तरह तैयार है। कल्पना चावला के बाद भारत के आंध्र प्रदेश में जन्मी सिरिशा बांदला अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली हैं। वह वर्जिन गेलेक्टिक के VSS यूनिटी के 5 अन्य यात्रियों के साथ कल रवाना होंगी। ह्यूस्टन में पली-बढ़ी सिरिशा बांदला को पता था कि वह एक दिन अंतरिक्ष में जरूर जाएंगी, चाहे कुछ भी हो। रविवार को यानी की कल 11 जुलाई को  सिरिशा रॉकेट अंतिरक्ष में जाएगी और अपने सपनो को सच करेंगी। सिरीशा गैलेक्टिक कंपनी की गवर्नमेट अफेयर्स एंड रिसर्च ऑपरेशंस में वाइस प्रेसीडेंट हैं। उन्होंने यह उपलब्धि महज 6 साल में हासिल की है। रिचर्ड ने कहा कि वर्जिन ऑर्बिट की उड़ान में कुल मिलाकर 6 लोग होंगे। जिसमें वह खुद भी शामिल होंगे।

बांदला भारत में कहा की है 

आंध्रप्रदेश के चिराला में जन्मी, बांदला के माता-पिता 4 साल की उम्र में ही उसको लेकर अमेरिका चले आये थे। बांदला का अंतरिक्ष के लिए प्यार वास्तव में तब शुरू हुआ जब मैं ह्यूस्टन में रहती थी जो नासा से घिरा हुआ था। बांदला बताती हैं कि मैंने देखना शुरू किया कि कैसे लोग अंतरिक्ष यात्री बनते हैं और मैंने उसके बाद अपना करियर अंतरिक्ष में बनाने की कोशिश की।

राकेश शर्मा से प्रभावित

अंतरिक्ष यात्री विंग कमांडर राकेश शर्मा का बांदला के जीवन पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ा था। बांदला ने कहा की मैंने फैसला किया था कि अंतरिक्ष में जाना है चाहे कुछ भी हो। मुझे नहीं पता था कि यह कब होने वाला है, लेकिन मुझे अपने आप पर पूरा यकीन था कि मैं इसे किसी दिन हकीकत बनाऊंगी। मैं इसका श्रेय अपने दादा-दादी और मेरे माता-पिता को देती हूं, जिन्होंने मुझे हमेशा प्रोत्साहित किया, मुझे अपने सपने का पीछा करते रहने के लिए प्रेरित किया।

एक बार फिर आपको बता दूँ की सुनीता विलियम्स और कल्पना चावला के बाद सिरिशा बांदला तीसरे भारतीय मूल की महिला होगी जो कल 11 जुलाई 2021 को अंतरिक्ष में जायगी।