Movie prime
पाकिस्तान ने किया दावा, लाहौर हमले में भारत का हाथ, पक्के सबूत के साथ कही ये बात जाने क्या है पूरा मामला 
 

पाकिस्तान एक ऐसा देश जिसके बारे में पूरी दुनिया अच्छे से जानती है की वो कैसा है और किसकी मदद से आतंकवाद को संरक्षण देता है मगर अब पाकिस्तान इतना बौखला चूका है की उसे खुद समझ नहीं आ रहा की वो कहना क्या चाहता है। पाकिस्तान ने एक बड़ा दावा किया है की भारत ने उसकी सरजमीं पर आतंकवाद हमला करवाया है। अब इस बात में कितनी सच्चाई है ये तो पता चल ही जायगा लेकिन आपको इससे पहले में बता देना चाहता हूँ की आखिर मामला क्या है। 

क्या है मामला 

23 जून को पाकिस्तान के लाहौर में आतंकवादी घटना घटित हुई। जिसका आरोप बौखलाया पाकिस्तान हिंदुस्तान पर लगाने की कोशिश कर रहा है। 

पाकिस्तान सरकार ने दावा किया है कि इस घटना को अंजाम देने के लिए भारत ने ही आंकवादियो को सहायता पहुँचाई है। इसके लिए भारत ने उन्हें पैसा भी दिया और इसके पुख्ता सबूत हमारे (पाकिस्तान) के पास हैं। 

कल यानी गुरुवार को भारत सरकार ने पाकिस्तान के आरोपों का क़रीब चार दिन बाद जवाब दिया था। 

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने गुरुवार को कहा कि पाकिस्तान के लिए भारत के ख़िलाफ़ आधारहीन दुष्प्रचार में संलिप्त होना कोई नयी बात नहीं है। पाकिस्तान अगर अपने देश की हालात ठीक करने में इतनी ही मेहनत करे और आतंकवाद के ख़िलाफ़ मज़बूत क़दम उठाये तो उसे इसका ज़्यादा फ़ायदा होगा। 

लेकिन पाकिस्तान सरकार ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दी है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जाहिद हाफ़िज़ चौधरी ने कहा है कि हम पहले भी इस ओर इशारा कर चुके हैं कि भारत पाकिस्तान में आतंकवाद को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि सीमा-पार की ख़ुफ़िया एजेंसी पाकिस्तान के ख़िलाफ़ आतंकी हमलों की योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने में शामिल रही है। 

जाहिद हाफ़िज़ चौधरी ने कहा की भारतीय आर्मी के कमांडर कुलभूषण जाधव जिन्हें हमने मार्च 2016 में रंगे हाथों पकड़ा था, पाकिस्तान के ख़िलाफ़ भारत के राज्य-प्रायोजित आतंकवाद का सबसे जाना-पहचाना और निर्विवाद चेहरा हैं। 

उनका कहना कि यह वैश्विक समुदाय की सामूहिक ज़िम्मेदारी है कि वो भारत को जवाबदेह ठहराये और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ आतंकवाद के संरक्षण में शामिल भारतीय नागरिकों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के लिए व्यावहारिक क़दम उठाये। 

जाहिद हाफ़िज़ चौधरी ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में पाकिस्तान को भारत सरकार की मदद नहीं चाहिए है।

भारत ने दिया करारा जवाब 

गुरुवार को भारत सरकार ने अपने जवाब में कहा था कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को आतंकवाद के मामले में पाकिस्तान की साख के बारे में अच्छी तरह पता है। 

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने पाकिस्तान की साख पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि वो आतंकवाद पर बात कर रहे हैं जो अभी भी ओसामा बिन लादेन जैसे आतंकवादियों का एक शहीद के रूप में महिमामंडन करते हैं। 

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा की पाकिस्तान अपने पर ध्यान दे और दुनिया जानती है की वो कैसा है।