Movie prime

रिकवरी के बाद कोरोनावायरस एंटीबॉडीज; जापान के योकोहामा सिटी यूनिवर्सिटी द्वारा अध्ययन | यह दावा करने से ठीक है कि 96% संक्रमण में भी ऐसा ही किया गया था

हिंदी समाचार राष्ट्रीय रिकवरी के बाद कोरोनावायरस एंटीबॉडीज; जापान के योकोहामा सिटी यूनिवर्सिटी द्वारा अध्ययन विज्ञापन से हैग है? बेन विज्ञापन के लिए इनस्टॉल करें ... Read moreरिकवरी के बाद कोरोनावायरस एंटीबॉडीज; जापान के योकोहामा सिटी यूनिवर्सिटी द्वारा अध्ययन | यह दावा करने से ठीक है कि 96% संक्रमण में भी ऐसा ही किया गया था
 
रिकवरी के बाद कोरोनावायरस एंटीबॉडीज;  जापान के योकोहामा सिटी यूनिवर्सिटी द्वारा अध्ययन |  यह दावा करने से ठीक है कि 96% संक्रमण में भी ऐसा ही किया गया था

विज्ञापन से हैग है? बेन विज्ञापन के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली4 घंटे पहले

हरा एक अध्ययन के योकोहामा सिटी ने एक अध्ययन के बाद दावा किया कि यह 96% संक्रमण से एक अच्छी तरह से लागू होगा। क्

इन सभी लोगों की उम्र 21 से 78 साल के बीच में है और ये सभी वयस्क कीटाणुओं से तैयार है। पूरी तरह से गणना करने के बाद ये पूरी तरह से पूरा हो गया।. I एक साल बाद भी। इस तरह के मामले में भी ऐसा ही है जैसे कि ९७% रहीं

इस तरह से तैयार किया जा सकता है
लागू होने के साथ ही वे भी ऐसे ही हों या नहीं, जैसा कि उनके हिसाब से लागू किया गया था। उनमें साउथ️ उनमें️ उनमें️ उनमें️ उनमें️ उनमें️️️️️️️️️️️️️️️️️ 75% लोगों में वैरीय दृष्टि बनी हुई है। ८१% में अच्छी तरह से जीवन की दिशा और 85% पर्यावरण में वैर की स्थिति में है। हालांकि, दावा किया जा सकता है कि यह किस तरह से तैयार किया जा सकता है।

इन लोगों को महत्व महत्व
गर्भवती होने के लिए जरूरी है कि आप ऐसा करना शुरू करें। लोगों कोरोना । .

खबरें और भी…

.