Home खबर एक मई से शुरू होने वाले टीकाकरण पर कांग्रेस शासित राज्यों ने...

एक मई से शुरू होने वाले टीकाकरण पर कांग्रेस शासित राज्यों ने खड़े किए हाथ, जानें क्‍या कहा

3
0
एक मई से शुरू होने वाले टीकाकरण पर कांग्रेस शासित राज्यों ने खड़े किए हाथ, जानें क्‍या कहा
एक मई से शुरू होने वाले टीकाकरण पर कांग्रेस शासित राज्यों ने खड़े किए हाथ, जानें क्‍या कहा

कोरोना काल में यूं तो राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप का दौर कभी नहीं रुका, लेकिन अचरज की बात है कि कोरोना के लिए सबसे कारगर मानी जानी वाली वैक्सीन पर भी यह खींचतान और आलोचना नहीं रुक रही है। इसकी कीमत को लेकर पहले सवाल उठा रहे कांग्रेस शासित राज्यों ने अब एक मई से सभी बालिगों के लिए टीकाकरण शुरू करने पर ही हाथ खड़े कर दिए हैं।

कंपनियों ने वैक्सीन देने में जताई असमर्थता

एक मई से शुरू होने वाले टीकाकरण पर कांग्रेस शासित राज्यों ने खड़े किए हाथ, जानें क्‍या कहा
एक मई से शुरू होने वाले टीकाकरण पर कांग्रेस शासित राज्यों ने खड़े किए हाथ, जानें क्‍या कहा

कांग्रेस शासित राज्यों का कहना है कि कंपनियों ने 15 मई से पहले वैक्सीन देने में असमर्थता जता दी है जबकि भाजपा और राजग शासित राज्यों ने कुछ कम संख्या से ही सही लेकिन इसे एक मई से ही शुरू करने की बात कही है। उनका यह भी कहना है कि कंपनियों की ओर से उन्हें एक मई से पहले ही वैक्सीन मिल जाएंगी। इस सबके बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने राजनीतिक विवाद पर क्षोभ जताते हुए याद दिलाया कि स्वास्थ्य राज्य का विषय है।

पत्रकारों के साथ की वर्चुअल चर्चा

राज्यों की ओर से ही बार-बार केंद्र से कहा जा रहा था कि टीकाकरण सभी के लिए खोला जाए। अब वक्त है कि राज्य अपना दायित्व निभाएं। जबकि केंद्र 45 से ऊपर के सभी लोगों को मुफ्त टीका देने का काम करता रहेगा। रविवार को कांग्रेस शासित राज्यों छत्तीसगढ़, पंजाब, राजस्थान और झारखंड (झामुमो शासित) के स्वास्थ्य मंत्री पत्रकारों से वर्चुअल चर्चा कर रहे थे।

मुफ्त वैक्सीन देने की मांग

इन सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों ने इस दौरान एक स्वर में केंद्र सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाया और कहा कि जिस तरह से उन्हें 45 साल से ज्यादा उम्र के लिए मुफ्त में वैक्सीन दी गई है, उसी तरह 18 से ज्यादा की उम्र के लोगों के लिए भी मुफ्त वैक्सीन दी जानी चाहिए।

नागरिकों को मुफ्त वैक्‍सीन देने का किया है वादा

रोचक तथ्य यह है कि इनमें से हर राज्य ने अपनी ओर से घोषणा की है कि वह अपने लोगों को मुफ्त वैक्सीन देंगे। राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वैसे भी उन्होंने अपने बजट में वैक्सीन की खरीद को लेकर कोई प्रविधान नहीं रखा है। लेकिन इसके बावजूद भी यदि टीकाकरण का जिम्मा राज्यों पर डाला जाता है तो हम इसे लेकर भी तैयार हैं। लेकिन फिलहाल वैक्सीन ही उपलब्ध नहीं है।

सीरम के जवाब का दिया हवाला

एक सवाल के जवाब में राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि वैक्सीन के लिए उनके अधिकारियों ने सीरम इंस्टीट्यूट से बात की थी, लेकिन उन्होंने 15 मई से पहले वैक्सीन न दे पाने को लेकर असमर्थता जताई है। सीरम इंस्टीट्यूट का कहना है कि अनुबंध के तहत अभी उन्हें केंद्र सरकार को वैक्सीन देनी है। 15 मई के बाद ही वह वैक्सीन दे पाएंगे।

भाजपा शासित राज्‍य बोले- एक मई से चलेगा अगला चरण

भाजपा शासित अधिकतर राज्यों की ओर से स्पष्ट किया गया कि वैक्सीन की मात्रा जरूर कम है लेकिन राज्यों को कंपनियों की ओर से आश्वासन मिल गया है और कार्यक्रम एक मई से ही शुरू होगा। ऐसे में यह देखना रोचक होगा कि किस राज्य की ओर से कितनी गंभीरता से प्रयास किए गए। दिल्ली सरकार की ओर से फिलहाल यह तो स्पष्ट नहीं किया गया कि उनके पास कितनी वैक्सीन आ चुकी हैं या आएंगी लेकिन फिलहाल एक मई से इसे शुरू करने की योजना है।

कांग्रेस मुख्यालय में खुला कंट्रोल रूम

एक मई से शुरू होने वाले टीकाकरण पर कांग्रेस शासित राज्यों ने खड़े किए हाथ, जानें क्‍या कहा
एक मई से शुरू होने वाले टीकाकरण पर कांग्रेस शासित राज्यों ने खड़े किए हाथ, जानें क्‍या कहा

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को पार्टी पदाधिकारियों से अपील की, कि वे सारे राजनीतिक काम छोड़कर सिर्फ लोगों की मदद करें। उनकी इस अपील के बाद कांग्रेस ने पार्टी मुख्यालय में लोगों की मदद के लिए एक कंट्रोल रूम खोलने का एलान किया। पार्टी महासचिव के सी वेणुगोपाल ने सभी राज्यों से केंद्रीय कंट्रोल रूम को हर दिन की पूरी स्थिति से अवगत कराने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here