Home खबर राहुल ने कहा था घाटी मे रहेगी खून की नदियां लेकिन घाटी...

राहुल ने कहा था घाटी मे रहेगी खून की नदियां लेकिन घाटी में नहीं चली कोई गोली अमित शाह बोले

78
0

राजनीति में हर कोई जानता सिंह की राजनीति में अमित शाह का रोल कितना बड़ा है अमित शाह के नाम से ही जीत सुनिश्चित हो जाती है महाराष्ट्र के सांगली में भाजपा सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को कांग्रेस और एनसीपी पर हमला करते हुए बोले कि जब मोदी जी अनुच्छेद 370 हटाने का प्रस्ताव लेकर आए तो कांग्रेस और एनसीपी दोनों 370 हटाने का और मोदी जी का विरोध कर रहे थे मैं राहुल गांधी और शरद पवार से कहना चाहता हूं कि वह महाराष्ट्र की जनता को बताएं कि वह इसे हटाने के पक्ष में है या नहीं

अमित शाह महाराष्ट्र में चुनावी शंखनाद बचा चुके हैं एक तरफ भाजपा और शिवसेना देवेंद्र फडणवीस जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ रहे हैं वहीं दूसरी और कांग्रेस और एनसीपी जैसे परिवार वादी पार्टियां चुनावी मैदान में है केंद्रीय गृहमंत्री कहा कि भाजपा ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो अपने छोटे से छोटे कार्यकर्ताओं को भी बड़े से बड़े पद पर आसीन करती है भाजपा वह पार्टी है जो असहाय लोगों की मदद करने एवं चुनाव में मौके देती रहती है वहीं दूसरी और कांग्रेस और एनसीपी है जो अपने परिवार के सदस्यों को ही टिकट देती है गृहमंत्री ने कहा 1971 में भारत और पाकिस्तान युद्ध के बाद भारत की जीत पर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को बधाई देने वाले पहले शख्स हमारे अटल बिहारी वाजपेई थे उस वक्त हम विपक्ष में थे लेकिन हमारे लिए हमारा देश है पहले

अमित शाह ने इसके बाद आकर कहा कि कांग्रेस और एनसीपी ने धारा 370 हटाने का विरोध किया था और कहा था कि कश्मीर मैं खून की नदियां बहेगी 5 अगस्त 2019 को 370 हटाए गई है जब 5 अक्टूबर में बीत गया खून की नदियां तो छोड़िए कश्मीर में एक गोली भी नहीं चली है

इसके बाद केंद्रीय गृहमंत्री आगे बढ़ते हुए कहते हैं कि दोबारा सत्ता में आने के बाद पहले संसदीय सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक समेत घाटी से अनुच्छेद 370 और 351 को खत्म किया इसके साथ ही सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पूरी दुनिया ने भारत को नई रोशनी में देखा इससे दुनिया को पता चल गया है कि यदि वे एक भारतीय को मारते तो उन्हें इसका परिणाम बहुत महंगा साबित हो सकता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here