Home खबर पीएम मोदी ने कहा की मेरा अंतरात्मा इजाजत नहीं देती की भारत...

पीएम मोदी ने कहा की मेरा अंतरात्मा इजाजत नहीं देती की भारत RCEP का सदस्य बने

405
0

भारत ने सोमवार को फैसला किया की अब वह RCEP का सदस्य नहीं रहेगा, भारत ने कहा की वह सभी क्षेत्रों में वैश्विक प्रतिस्पर्धा बंद नहीं कर रहा है लेकिन उसने एक परिणाम के लिए एक जोरदार तर्क पेश किया है जो सभी देशो के लिए अच्छे से सभी सेक्टरों के लिए अनुकूल है।

सूत्रों के अनुसार RCEP के सम्मलेन पीएम मोदी जी ने अपने भाषण में कहे की “RCEP समझोते का मौजूदा स्वरुप RCEP की बुनयादी भावना और मान्य मार्गदर्शक सिद्वांतो को पूरी तरह जाहिर नहीं करता है यह मौजूदा परिस्थितियो में भारत के दीर्घकलिक मुद्दों और चिंताओं का संतोषजनक रूप से समाधान भी पेश नहीं करता है।

भारत ने 16 देशों के RCEP व्यापार समझोते का हिस्सा नहीं बनना चाहता है, मोदी ने इस फैसले की तारीफ करते हुए कहते है की सत्ता के लोग तो इसकी तारीफ कर ही रहे है साथ में पूरा विपक्ष भी इसकी तारीफ करते हुए बोल रहा की यह जीत है हमारी एक, हालाँकि पीएम मोदी ने इसके पीछे भारत के हितो को बताया है RCEP में शामिल ना होने को।

पीएम मोदी आगे कहते है की RCEP समझौते का मौजूद स्वरूप बुनयादी भावना और मान्य मार्गदर्शक को पूरी तरह जाहिर नहीं करता है इससे इस समय यह सवाल उठ रहा है की भारत का RCEP में शामिल नहीं होने से कोनसा नुकसान है।

इन सभी वजह से भारत ने RCEP से हाथ पीछे किये

सूत्रों के अनुसार पता चला है की भारत की  RCEP से कई तरह की बाते हुयी परन्तु भारत को इन सभी मसलो पर कोई भरोसा नहीं मिल पाया है, इसमें आयत से होने वाले अपर्याप्त संरक्षण, RCEP सदस्यों देशो के साथ 105 बिलियन व्यापार घाटा, बाजार की पहुँच पर भरोसे की कमी, नॉन टेरिफ प्रतिबंधो परअसहमति नियमो के संभावित उल्लंघन शामिल है, जिसके अंदर चीन सबसे बड़ी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here