नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक हुआ प्रदर्शन
नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक हुआ प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन बिल दोनों सदनों में पास हो गया है और अब इस बिल को लेकर एक तरफ ख़ुशी है तो वही देश के कुछ हिस्सों में इसे लेकर विरोध भी किया जा रहा है और अब नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक हुआ प्रदर्शन जो की देश में खरब माहौल के संकेत भी दे रहा है वही असम में छात्र संगठन सड़को पर उतर गए है और वहां की कई फ्लाइट भी रद्द कर दी गई है सिर्फ असम में ही नहीं अरुणाचल प्रदेश और मेघालय जैसे पूर्वोत्तर राज्यों में इसका विरोध तेज़ी से बढ़ रहा है सुनने में आया ही की आज शाम मेघालय की मुख्यमंत्री कोनराड संगमा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगी देखे देश मे किस-किस जगह नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक हुआ प्रदर्शन।

पूर्वोत्तर में नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है जिसकी वजह से फ्लाइट को रद्द कर दिया गया है इंडिगो ने गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, जोरहाट की फ्लाइट को रद्द कर दिया है डिब्रूगढ़ में लगभग 13 आने-जाने वाली फ्लाइट को रद्द कर दिया गया है इंडिगो के आलावा स्पाइजेट और विस्तारा की भी फ्लाइट को रद्द कर दिया गया है।

नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ पहली याचिका दर्ज सुप्रीम कोर्ट में

नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक होते हुए प्रदर्शन को देखते हुए असम और त्रिपुरा जाने वाली सभी पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है वही दिल्ली से कोलकाता तक जाने वाली सभी ट्रैन अब सिर्फ गुवाहाटी तक ही पहुँचेगी और इसके आगे की सेवा फ़िलहाल बंद कर दी गई है।

नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक हुआ प्रदर्शन
नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक हुआ प्रदर्शन

असम के मुख्यमंत्री सर्वनन्द सोनोवाल, बीजेपी विधेयक प्रशांत फुकान के घर प्रदर्शनकारियो ने हमला किया और उनके घर के सामने नारेबाजी भी करे इसके आलवा प्रदर्शनकरियो ने डिब्रूगढ़ में आरएसएस के दफ्तर में भी हमला करके वहा पर आग लगा दिए जिसमे 4 मोटरसाइकिल को नुकसान हुआ और कुछ अन्य चीजे भी जल गई।

आज के दिन असम में इसको लेकर विरोध बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है और आज सुबह ही वही पर एक शव भी मिला और वहां की कई दुकानों को भी आग लगा दिया गया है और वही बीजेपी के एक अस्थाई दफ्तर को भी आग लगा दिया गया है।

नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक हुआ प्रदर्शन को रोकने के लिए आज सुबह भारतीय प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी ने एक ट्वीट किया और असम के लोगो से अपील की उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा की नागरिकता संशोधन बिल के पास होने से असम के लोगो का हक नहीं छीना जायेगा इससे ना तो असम के लोगो का अधिकार और ना ही वहा के लोगो आस्मिकता छीनी जाएगी।

असम के आलवा अरुणाचल प्रदेश, और मेघालय में भी छात्र संगठन इसका विरोध कर रहे है और मेघालय के मुख्यमंत्री गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here