Bundelkhand Expressway: 296 KM लंबाई, अब 6 घंटे में चित्रकूट से दिल्‍ली; PM मोदी देंगे बुंदेलखंड एक्‍सप्रेसवे की सौगात | Latest Updates 2022

 

Bundelkhand Expressway
Bundelkhand

यूपी का बुंदेलखंड अब सीधे दिल्ली और लखनऊ से जुड़ने जा रहा है, वो भी बहुत कम टाइम में. बुंदेलखंड वासियों को आज बड़ी सौगात देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जालौन जा रहे हैं। Bundelkhand Expressway

करीब 14,850 करोड़ रुपए की लागत से बने 296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 जुलाई को लोकार्पण करने जा रहे है . ये कार्यक्रम जिले की उरई तहसील के कैथेरी गांव में किया गया था।

जालौन: बुंदेलखंड रहने वालो को शनिवार को बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की सौगात मिली , क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को जालौन जिले की उरई तहसील के कैथेरी गांव में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करेंगे।

296 किलोमीटर लंबे इस बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का प्रधानमंत्री मोदी ने 29 फरवरी, 2020 को शिलान्यास भी किया था. इस एक्सप्रेसवे का काम ओनली 28 महीने के अंदर पूरा कर लिया गया है।

पीएम मोदी के इस प्रोग्राम के लिए सुरक्षा की पूरी व्यवस्था भी की थी।

इस एक्स प्रेसवे से अब चित्रकूट से दिल्ली की पूरी दूरी ओनली 6 से 7 घंटे की हो जाएगी. यह बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जलौन, इटावा होते हुए आगरा और लखनऊ को जोड़ते हुए आएगी।

कहा गया है कि कुल 296 किलोमीटर लंबे इस चार लेन वाले एक्सप्रेसवे का आयोजित उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीईआईडीए) के तत्वावधान में मिनिमम 14,850 करोड़ रुपये की लागत से ही किया गया है। Bundelkhand Expressway

Bundelkhand Expressway
Bundelkhand Expressway

और आगे चलकर इसे छह लेन तक भी विस्तारित भी किया जा सकता है.

ये एक्सप्रेसवे चित्रकूट जिले में भरतकूप के पास गोंडा गांव में राष्ट्रीय राजमार्ग-35 से लेकर इटावा जिले के कुदरैल गांव तक किया गया है वहा पर ये आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के साथ भी मिल जाता है. ये एक्सप्रेसवे सात जिलों जैसे की चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया और इटावा से होकर जाती है।

कहा जा रहा है कि ये बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इस इलाके की कनेक्टिविटी में सुधार के साथ-साथ आर्थिक विकास को भी बढ़ावा देगी , क्योंकि इससे स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के बहुत सारे अवसर मिलेंगे।

बांदा और जालौन जिलों में इस एक्सप्रेसवे के समीप औद्योगिक कॉरिडोर बनाने का काम बहुत पहले ही शुरू हो गया है।

जालौन के पुलिस अधीक्षक रवि कुमार ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी के दौरे के मद्देनजर सुरक्षा कर्मियों द्वारा जिला मुख्यालय उरई के सभी होटल एवं रेस्टोरेंट पर सघन जांच पड़ताल अभियान चलाया गया है।

पुलिस के हिसाब से , लोकार्पण स्थल पर होने वाली जनसभा में सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को पहुंचने की सुविधा उपलब्ध करवाई गयी ही। Bundelkhand Expressway

और इसके लिए ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम प्रधान से लेकर और भी उच्च अधिकारी भी तैयारी में लगे हुए है . पुलिस के हिसाब से तो लाभार्थियों को जनसभा स्थल पहुंचने में कोई दिक्कत ना हो इस को ध्यान में रखकर पूरे जनपद की नगर पालिका और नगर पंचायत मुख्यालय पर भी रोडवेज की बसें भी उपलब्ध कर वाई गई है।

और इसके अलावा ग्रामीण अंचल से लाभार्थियों को सभा स्थल पर ले जाने के लिए विकासखंड स्थल एवं ग्राम स्तर पर भी बसें उपलब्ध करवाई जा रही ही।

8 नदियों से होकर जाता है एक्सप्रेसवे

इस बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण में लगभग 14,850 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं. जिसकी लंम्बाई 296.07 किमी है. इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण 8 नदियों बागेन, केन, श्यामा, चन्दावल, बिरमा, यमुना, बेतवा और सेंगर नदियों के ऊपर किया गया है। Bundelkhand Expressway

Bundelkhand Expressway
Bundelkhand Expressway

इन जिलों से गुजरने पर देना होगा टोल

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे में 13 जगहों पर टोल और रैंप प्लाजा बनवायेगे . मुसाफिरों को 296 किमी लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पर चित्रकूट (1), बांदा (4), महोबा (1), हमीरपुर (1), जालौन (3), औरैया (2), इटावा (1) समेत सात जनपदों में निर्माण धीन टोल और रैंप प्लाजा से होकर जाना पड़ेगा. यहां उन्हें टोल का भुगतान करना भी होगा। Bundelkhand Expressway

ये भी पढिये –

 

Read Also  – Bundelkhand Expressway: 296 KM लंबाई, अब 6 घंटे में चित्रकूट से दिल्‍ली; PM मोदी आज देंगे बुंदेलखंड एक्‍सप्रेसवे की सौगात

Read Also  – Prathap Pothen Passes Away: नेशनल अवॉर्ड विनिंग एक्टर-डायरेक्टर प्रताप पोथेन का निधन, फ्लैट में पाए गए मृत | Latest Updates 2022 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *