100 दिनों में योगी आदित्यनाथ जी की सरकार 2.0 | 2022 Latest News

ByKusum Yadav

Jul 4, 2022 , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,
योगी

100 days of Yogi Sarkar 2.0: योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी में पहली बार लगातार किसी को दूसरी बार सत्ता मिली. बीजेपी की जीत हमारी नीतियों की वजह से हुई |

योगी
योगी

100 days of Yogi Government 2.0: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे हो गए हैं. इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और अपनी सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि यूपी में पहली बार लगातार किसी को दूसरी बार सत्ता मिली. बीजेपी की जीत हमारी नीतियों की वजह से हुई.

सीएम योगी ने कहा कि हाल में हुए 36 विधानपरिषद सीट पर चुनाव हुए जिसमें हम लोग 33 सीट जीते. विधानपरिषद अब कांग्रेस मुक्त हो गया है. लोकसभा उपचुनाव में भी 2 सीट हम लोग जीते. 2019 के लोकसभा चुनाव में ये 2 सीट एसपी जीती थी. उन्होंने कहा कि हमने जो कहा सो किया को अभियान बनाकर काम किया. देश को 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने का लक्ष्य पीएम मोदी ने रखा है,

ऐसे में यूपी की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है. हम 1 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने के लिए 10 प्रमुख सेक्टर चयनित कर उसपर कार्ययोजना के आधार पर एक अधिकारी को ज़िम्मेदारी देकर उस सेक्टर की संभावनाओं को तलाशने और उसमें काम करने का काम आगे बढ़ाया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार जनता के द्वार अभियान में 18 मंडलों में 18 मंत्रियों के नेतृत्व में 72-72 घण्टे के लिए एक एक कमिश्नरी में कैम्प करके जनता, संगठनों और संस्थाओं से सम्पर्क स्थापित किया. इससे जनता के मन में नया विश्वास पैदा करने का काम किया.

उन्होंने कहा कि हमने 100 दिनों के लक्ष्य को हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण काम किये हैं. इसमें तकनीक का भी बेहतर इस्तेमाल किया गया. प्रदेश में पेंशन पाने वालों के लिए ई-पेंशन योजना शुरू की. विधानसभा की कार्यवाही के लिए ई-विधान सिस्टम लागू किया गया.

ये हुए प्रमुख काम

योगी
योगी

योगी ने कहा कि यूपी 2017 से पहले जातिवाद, परिवारवाद, अराजकता के लिए जाना जाता था. केंद्र की योजनाओं को तत्कालीन राज्य सरकार ने लागू नहीं किया. हमने 2017 के बाद कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने पर काम किया. बेहतर कानून व्यवस्था से निवेश बढ़ा और बढ़ते निवेश की वजह से रोजगार के अवसर पैदा हुए.

100 दिनों में हमारी सरकार ने 844 करोड़ रुपये की माफियाओं और अपराधियों की संपत्ति जब्त किया है. 2017 से अबतक 2925 करोड़ की संपत्ति ज़ब्त की है. अवैध पार्किंग, टैक्सी स्टैंड हटाये गए. आज प्रदेश में 68,700 से अधिक अतिक्रमण हटाये गए.

अमृत योजना के तहत पेयजल की 19 परियोजनाएं नगर निकायों में 280 पिंक टायलेट का निर्माण सभी 12022 वार्डों में डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने का काम शुरू स्मार्ट सिटी वाले शहरों में 50 परियोजनाओं का काम प्रारंभ स्मार्ट सिटी में निर्माणाधीन 75 परियोजनाओं का काम पूर्ण प्रदेश स्तरीय स्मार्ट सिटी सेंट्रल डिजिटल मॉनिटरिंग सेंटर की स्थापना।

केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा चयनित 17 स्मार्ट सिटी वाले जिलों के 102 निकायों को गोद लेने का काम पीएम स्वनिधि योजना में 84148 स्ट्रीट वेंडरों को ऋण वितरण। योगी आदित्यनाथ

शिक्षा में कई लक्ष्य पूरे, कुछ अंतिम चरण में

रोजगार, अप्रेंटिसशिप व प्लेसमेंट मेले के आयोजन लक्ष्य से अधिक प्राथमिक, माध्यमिक से लेकर उच्च, व्यावसायिक व प्राविधिक शिक्षा के लिए तय किए गए अधिकांश लक्ष्य पूरे हो गए हैं तो कहीं कुछ पूरे होने के करीब हैं। ग्रीष्मावकाश के बाद जुलाई से शैक्षिक संस्थाएं खुलने के कारण शेष बचे कार्य रफ्तार पकड़ने लगे हैं। वहीं, रोजगार, अप्रेंटिसशिप व प्लेसमेंट मेलों के आयोजन लक्ष्य से अधिक हुए हैं।

लक्ष्य दो करोड़, नामांकन 1.88 करोड़

वर्तमान सत्र 2022-23 में परिषदीय स्कूलों में दो करोड़ बच्चों के नामांकन का लक्ष्य था। इसके सापेक्ष 1.88 करोड़ बच्चों का नामांकन हो गया है। ग्रीष्मावकाश के बाद स्कूल खुलने के साथ ही नामांकन का काम जारी है। दूसरा लक्ष्य नामांकित सभी विद्यार्थियों का शत-प्रतिशत आधार पंजीकरण कराना था। इसके तहत 1.66 करोड़ बच्चों का आधार पंजीकरण हो गया है।

  • डिजिटल शिक्षा की दिशा में लगभग सभी कार्य पूरे
योगी
योगी

माध्यमिक विद्यालयों में सभी विद्यार्थियों की वेबसाइट, ई-मेल आईडी बनाए जाने व राजकीय विद्यालयों में बायोमीट्रिक हाजिरी शुरू करने का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। ई-मेल आईडी व वेबसाइट भी लगभग तैयार हैं। इन सभी की क्रियाशीलता परखी जा रही है। 41 हाईस्कूल, 18 इंटर कॉलेज के निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। योगी आदित्यनाथ

भर्ती प्रक्रिया हुई तेज, नए महाविद्यालय बने।
योगी
योगी

उच्च शिक्षा के क्षेत्र में रिक्त पदों पर भर्ती, पदोन्नति की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। नए महाविद्यालय भी तैयार हो गए हैं। ऑनलाइन पोर्टल शुरू किए जाने, निजी विश्वविद्यालयों से जुड़े कार्य अभी चल रहे हैं। ई-लर्निंग पार्क व इनक्यूबेटर्स की शुरुआत के लिए भी प्रक्रिया चल रही है। योगी आदित्यनाथ

ये भी पढ़िए 

मुख्यमंत्री द्वारा नगर विकास को दिए गए 100 दिन के लक्ष्य के अधिकतर काम

मेरी देवर भाभी की कहानि को पड़ने में मज्जा आने वाला है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *