सरकार का बड़ा फैसला हरिद्वार में 26 जुलाई तक बंद रहेंगे स्कूल -जानिए

हरिद्वार
हरिद्वार

हरिद्वार में कबाड़ यात्रा पर सरकार ने बहुत बड़ा फैसला लिया ही। उन्होंने 28 जुलाई तक स्कूल बंद रखने का फैसला लिया है। आगे की जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट news7todays.com पर जुड़े रहे। यहाँ पर आपको हर रोज नई खबर देखने को मिलेगी।

हरिद्वार में कांवड़ यात्रा के तीर्थ मार्ग पर स्थित सभी मीट की दुकानें बंद रहेंगी। हरिद्वार के जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने घोषणा की कि जिले के सभी स्कूल, सरकारी, अशासकीय बंद, निजी स्कूल, संस्कृत स्कूल, मदरसे और आंगनबाडी केंद्र 20 जुलाई से 26 जुलाई तक एक सप्ताह तक बंद रहेंगे।

डीएम पांडेय ने यह भी कहा है कि कांवड़ यात्रा के तीर्थ मार्ग पर सभी मांस की दुकानें बंद रहेंगी जबकि सड़क की ओर मुख वाले शराब की दुकान के काउंटर विपरीत दिशा में खुलेंगे। यह क्रम कांवड़ यात्रा जारी रहने तक जारी रहेगा। 14 जुलाई से 27 जुलाई तक मीट की दुकानें बंद रहेंगी। आदेश का उल्लंघन न हो इसके लिए पुलिस बल तैनात है।

बुधबार को उत्तराखंड सरकार ने कावड़ यात्रा के दौरान यात्रियों को तलवार त्रिशूल जैसे कई हथियारों की अनुमति नहीं दी है। साथ ही साथ कावड़ यात्रा पर मीट की दुकानों को बंद करा दिया गया है। वहां के मुख्यमंत्री का कहना है की इस साल कम से कम 5 करोड़ से ज्यादा लोग कावड़ के साथ हरिद्वार आने वाली है।

उनके लिए सब तरह की व्यवस्था की गयी है। वहा पर उनकी सुरक्षा के लिए बहुत अधिक संख्या में सैनिक भी लगाए गए है। कांवड़ यात्रा’ भगवान शिव के भक्तों की एक वार्षिक तीर्थयात्रा है जो गुरुवार से शुरू हुई। कांवरिया (तीर्थयात्री) उत्तराखंड में हरिद्वार, गौमुख और गंगोत्री और बिहार के सुल्तानगंज जैसे स्थानों पर र गंगा नदी का पवित्र जल लाने के लिए जाते हैं। फिर वे उसी जल से भगवान शिव की पूजा करते हैं।

कब तक रहेंगे स्कूल बंद -जानिए| हरिद्वार में 26 जुलाई तक बंद रहेंगे स्कूल बंद -जानिए | Latest News 2022

बढ़ती कावड़ यात्रा को देखते हुए वहा की सरकार ने 26 जुलाई तक स्कूल बंद करने की घोषणा की है।सरकार ने ऐसा इसलिए किया क्योकि यात्रियों के आधे से ज्यादा रुकने का इंतजाम स्कूलो में किया गया है। साथ ही साथ ऐसे समय में हमले होने का खतरा सबसे ज्यादा बना रहता है। 1 अगस्त तक सभी स्कूलो की छुट्टी रहेगी।

सावन का महीना बहुत महत्‍वपूर्ण

यह महीना सावन का सबसे खास महीना चल रहा है। जिसमे भगवान शिव की सबसे ज्यादा पूजा की जाती है। लोग दूर -दूर से गंगा का पानी भरकर लाते है और शिव लिंग पर अर्पित करते है। इस महीने में चार सोमवार आएंगे 18 जुलाई, 25 जुलाई, 1 अगस्त और 8 अगस्त इस दिन सबसे ज्यादा श्रद्धालु कावड़ यात्रा  से पानी लेकर भगवान शिव का अभिषेक करते है। उत्तर भारत में इस महीने में सबसे  ज्यादा त्यौहार मनाये जाते है। उधर भगवान शिव को सबसे ज्यादा मानते है।

इस बार श्रावण का महीना 12 अगस्त चलेगा। लोग हरिद्वार में भी बहुत दूर दूर से गंगा जी का पानी लेकर अर्पित कर रहे है। यात्रा के दौरान कोई घटना न इसके लिए ड्रोन स इसकी पूरी निजरानी भी रखी गयी है। हर जगह पर सभी को चेक करके अंदर भेजा जायेगा। सुरक्षा की पूरी सुविधा दी गयी है।

कावड़ यात्रा के नियम -जानिए 

  • इस यात्रा में किसी भी तरह के नशे करने की मना है
  • इस यात्रा में  मांस। मछली ,मीट ,जैसे कई तरह के भोजन करना सख्त मना है।
  • कावड़ यात्रा करते समय गंगा जी के पानी से भरे घड़े को जमीन पर रखना मना है।
  • बिना स्नान किये कावड़ को हाथ लगाना मना है।
  • यदि एक बार कावड़ कंधे से उतर जाये तो उसे करके ही दुबारा रख सकते है।
  • कावड़ यात्री किसी वाहन पर नहीं चल  सकता और नाही चारपाई पर सो सकता है।

 

Read Also -Kanwar Yatra 2022: जानिए किसने की थी कावड़ यात्रा की शुरुआत, इस परंपरा से जुड़ी है ये प्राचीन कथा

Read Also-Til के फायदेमंद और इनके पोषक तत्व | Latest News 2022 Beneficial And Their Nutrients

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *