शराब

Young People Are Most At Risk From Drinking Alcohol

Alcohol शरीर के लिए नुकसानदायक है, ये हम सभी जानते हैं। लेकिन एक नई स्टडी में इसे पीने वालों की उम्र से जुड़ा खुलासा हुआ है। इस स्टडी में शोधकर्ताओं ने कहा है कि युवाओं को शराब l पीने से वृद्धों की अपेक्षा ज्यादा नुकसान है।

उन्हें ज्यादा जोखिम का सामना करना पड़ सकता है। ये स्टडी ब्रिटिश मेडिकल जर्नल द लैंसेट में प्रकाशित की गई है। इस अध्ययन में भौगोलिक क्षेत्र, आयु, लिंग और वर्ष के आधार पर एल्कोहल को लेकर रिपोर्ट दी गई है।

शराब
शराब

रिपोर्ट में कहा गया है कि 15-39 वर्ष की आयु वाले पुरुषों के लिए शराब की सख्त गाइडलाइन होनी चाहिए, क्योंकि दुनिया भर में शराब का सबसे बड़ा जोखिम इन्हें है।

शोधकर्ताओं के मुताबिक 40 या उससे ज्यादा की उम्र के सिर्फ स्वस्थ पुरुष अगर शराब को नशे की जगह मेडिकल इस्तेमाल में लाएं तो उनमें कार्डियोवैस्कुलर बीमारी, स्ट्रोक और डॉयबिटीज का जोखिम कुछ कम हो सकता है। 2020 में 204 देशों में लिए गए आंकड़ों के मुताबिक ये निष्कर्ष निकला है कि 1.34 अरब लोग हानिकारक मात्रा में शराब पीते हैं।

सबसे ज्यादा नुकसान 15-39 की उम्र को

शोध में कहा गया है कि दुनिया भर के हर रीजन में 15-39 आयुवर्ग के पुरुष हानिकारक मात्रा में शराब पीते हैं। इससे उन्हें कोई स्वास्थ्य लाभ नहीं मिलता है, हां नुकसान जरूर है। पेपर में कहा गया है कि 60 फीसदी शराब से संबंधित चोटों के साथ कई स्वास्थ्य जोखिम दिखाई देते हैं।

इसी आयुवर्ग के लोग ज्यादातर शराब पीने के बाद एक्सीडेंट, आत्महत्या और हत्या में शामिल होते हैं। शोध की वरिष्ठ लेखक इमैनुएला गाकिडौ का कहना है कि हमारा सीधा संदेश है कि युवाओं को शराब नहीं पीना चाहिए।

शराब के साथ धूम्रपान की आदत और भी खतरनाक

इस अध्ययन के लिए 17 से 24 साल की आयु वाले 1,655 प्रतिभागियों को शामिल किया गया था। अध्यन के दौरान इन प्रतिभागियों से यह भी जानने की कोशिश की गई कि वह तंबाकू उत्पादों का सेवन कितना करते हैं?

जितनी भी स्तर पर किए गए जांच से पता चला कि बहुत ज़्यदा धूम्रपान के साथ शराब सेवन करने वाले लोगों में धमनियों की कठोरता का खतरा, अन्य लोगों की तुलना में काफी अधिक हो सकता है। इतना ही नहीं विशेषज्ञों ने यह भी स्पष्ट किया है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यह समस्या अधिक होती है।

क्या कहते हैं वैज्ञानिक?

यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के शोधकर्ता और अध्ययन के प्रमुख लेखक ह्यूगो वालफोर्ड कहते हैं, शराब का अधिक सेवन किस तरह से धमनियों को क्षति पहुंचाने के साथ हृदय रोगों का खतरा बढ़ा सकता है, इस लेख में साफ पता चलता है। वहीं जिन लोगों में शराब के साथ-साथ धूम्रपान की भी लत है, उनमें खतरा और भी अधिक देखने को मिला है।

युवा महिलाओं में इस खतरे को पुरुषों की तुलना में अधिक देखा गया है। भविष्य में हृदय रोगों के संभावित महामारी को रोकने के लिए युवाओं को इस आदत से बचाने की आवश्यकता है।

Alcohol के सेवन के हो सकते हैं दीर्घकालिक नुकसान

अध्ययनकर्ता ह्यूगो वालफोर्ड कहते हैं, सामान्यतौर पर स्टैंडर्ड मेंटेन करने के चक्कर में कम उम्र में ही Alcohol और धूम्रपान की चपेट में आ जाने वाले युवा, इससे होने वाले गंभीर खतरों से अनजान होते हैं। युवा, यह मान लेते हैं कि शराब पीने और धूम्रपान करने से दीर्घकालिक नुकसान नहीं होता है।

शराब
शराब

हालांकि इस अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि कम उम्र में ही धमनियों को होने वाले नुकसान से आगे चलकर गंभीर हृदय रोग और इससे मौत का खतरा बढ़ जाता है। हालांकि यदि समय रहते इस आदत से छुटकारा पा लिया जाए तो इस तरह के गंभीर खतरे को कम किया जा सकता है।

Alcohol का लिवर पर प्रभाव

हमारे शरीर में जाने वाले लिक्विड (तरल पदार्थों) की प्रॉसेसिंग लिवर करता है। शराब जब आपके शरीर में पहुंचती है, तो लिवर इसकी प्रॉसेसिंग शुरू करता है। मगर लिवर एक बार में बहुत ज्यादा Alcohol की प्रॉसेसिंग नहीं कर सकता है।

शराब
शराब

क्योंकि इसका आकार छोटा होता है। अब जब आप ज्यादा शराब पीते हैं, तो लिवर इसे प्रॉसेसिंग करने के लिए स्टोर नहीं कर पाता है और Alcohol आपके पेट और छोटी आंत से होते हुए आपके खून में घुलने लगती है। ये खून शरीर के अन्य अंगों तक पहुंचने से पहले लिवर के पास फिल्टर होने के लिए आता हैं।

Read Also – कई बार आप अखबारों और आर्टिकल्स में रिसर्च पढ़ते हैं कि थोड़ी मात्रा में एल्कोहल सेहत के लिए अच्छी होती है और कई बार पढ़ते हैं कि एल्कोहल नहीं पीनी चाहिए। 

Read Also – तिल बहुत ही पौष्टिक होता है, जिसे आमतौर पर सर्दियों में खाया जाता है। अपनी गर्म प्रकृति की वजह से यह सर्दियों में शरीर को गर्माहट भी देता है। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *