Home खबर लड़की को 2 साल से बांधकर बॉयफ्रैंड ने किया रेप, कोर्ट ने...

लड़की को 2 साल से बांधकर बॉयफ्रैंड ने किया रेप, कोर्ट ने छोड़ा, जाने वजह

44
0
लड़की को 2 साल बांधकर बॉयफ्रैंड ने किया रेप
लड़की को 2 साल बांधकर बॉयफ्रैंड ने किया रेप

एक आदमी ने अपनी गर्लफ्रैंड को 2 साल से कैद करके उससे रोजाना रेप किया करता था। हाल ही मैं लड़की ने अपनी इस दर्दनाक कहानी को Aganist My Will नामक पुस्तक में लिखी है। जिसमे लड़की ने अपने साथ हुई इसदर्दनाक घटना को दुनिया के सामने रखा है। लड़की ने बताया है की उसे उसी के घर में कैद कर लिया गया था।

ये कहानी 26 साल की लड़की की है जो की इंग्लैंड के वेल्स में रहती है। लड़की का नाम सोफी है जो की Asperger सिंड्रोम नामक बिमारी के ग्रस्त है। इसकी वजह से इंसान में सोशल इंटरेक्शन का सामना करने में दिक्कत होती है।

सोफी ने अपनी किताब में बताया है की उसे मैथ्यू टिब्बल नाम के इंसान ने कैद कर लिया था। सोफी ने अपनी इस पुस्तक में बताया की मैथ्यू उन्हें तब तक खाने को नहीं देता था तब तक की वह रेप ना करे यानी की रेप करने के बाद ही खाने को देता था। सोफी ने किताब में डर जताया है की मैथ्यू उनसे  बदला लेने के लिए उनपर हमला कर सकता है।

लड़की को 2 साल बांधकर बॉयफ्रैंड ने किया रेप
लड़की को 2 साल बांधकर बॉयफ्रैंड ने किया रेप

सोफी ने बताया की ये घटना तब की है जब वह 17 साल की थी। सोफी ने अपनी किताब में ये भी बताया की उन्हें हमेशा नेकेड ही रखा जाता था और बच्चो जैसे कपडे पहनाये जाते थे।

सोफी ने बताया की वह करीब 2 साल तक कैद में थी और जुलाई 2012 में वह उस जगह से भागने में कामयाब हो गई थी। इसके एक साल के बाद मैथ्यू ने इस बात को कोर्ट में काबुल लिया था की उसने गलत तरीके से सोफी को कैद किया था।

मैथ्यू के गुनाह कबूलने के बाद एक समझौते के तहत प्रासेक्यूटर ने मैथ्यू के ऊपर से रेप के आरोप को हटा दिए थे। इसके बाद मैथ्यू को मनोरोग हॉस्पिटल में अनिश्चित समय के लिए भेज दिया गया। लेकिन सिर्फ 4 साल तक उसे रखने के बाद छोड़ दिया गया।

love Aaj Kal Review : सारा ने कार्तिक संग किया लिपलॉक सीन

सोफी ने बताया है की मैथ्यू को डिटेंशन सेंटर से छोड़े जाने की खबर से वह परेशान है। सोफी ने बताया की उन्हें डर है की मैथ्यू उनसे बदला लेने के लिए उनपर दुबारा हमला कर सकता है।

आपको बता दूँ की सोफी बचपन से ही डिप्रेशन और एंजाइटी जैसी बीमारियों से परेशान थी जिसकी वजह से वह घर से भी बाहर कम निकलती थी। इसी बीच मैथ्यू से उनकी मुलाकात हुई। इसी दौरान मैथ्यू ने सोफी को उसके परिवार से अलग कर दिया और अलग घर में रहने लगा।

सोफी ने अपनी किताब में बताया की मैथ्यू उसके परिवार को जान से मारने की भी धमकी देता था अगर मैं उसकी बात नहीं मानती थी तो। सोफी ने बताया की मैथ्यू उसके साथ जंगली जानवर की तरह व्यवहार किया करता था।

मैथ्यू से जुड़े सभी मामलो में सजा सुनाते हुए जज ने कहा की मैथ्यू सभी महिलाओं के लिए खतरा है। 4 साल बाद जब मैथ्यू को रिहा किया गया तब न्याय मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा की ऐसी स्थिति में रिहा किये जाने वाले कैदी पर सोशल वर्कर और क्लिनिकल सुपरवाइजर उनपर नज़र रखते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here