Latest News

LAC पर बदस्तूर जारी है चीन की दबाव बनाने वाली रणनीति -जानिए पूरी जानकरी | Latest News 2022

LAC पर बदस्तूर जारी है चीन की दबाव बनाने वाली रणनीति -जानिए पूरी जानकरी | Latest News 2022

LAC पर बदस्तूर जारी है चीन की दबाव बनाने वाली रणनीति -जानिए पूरी जानकरी | Latest News 2022

LAC पर बदस्तूर
LAC पर बदस्तूर

LAC पर बदस्तूर के साथ चीन की नई रणनीति के बारे में खुलासा हुआ है। इस बारे में पूरी जानकारी मैं अपनी इस पोस्ट में रहा रहा हु आप ध्यान से इसे पढ़कर पूरी जानकारी देख सकते हो। ऐसी और खबरों के लिए हमारी वेबसाइट news7 todays.com से जुड़े रहे। यहां पर आपको रोज अच्छी -अच्छी खबर मिलती रहेगी।

चीन द्वारा लड़ाकू विमानों की सहायता से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर समझौतों का बार-बार उल्लंघन करने – जिसकी वजह से भारतीय वायु सेना को अपने विमान तैनात करने पर मजबूर होना पड़ता है – से लेकर एक ऐसा नया हाईवे बना रहा है जो सभी मौजूदा तनाव वाले बिंदुओं को आपस में जोड़ेगा और सीमा के करीब नए सैन्य उपकरणों और सैन्य तैनाती को ज्यादा गति देगा, चीन भारत के साथ दो साल से अधिक समय से चल रहे सैन्य गतिरोध के दौरान लगातार दबाव बनाए हुए है।LAC पर बदस्तूर

रक्षा और सुरक्षा प्रतिष्ठान के सूत्रों ने दिप्रिंट को बताया कि चीन की मंशा ‘अंगारों को सुलगाते रहने’ और भारत द्वारा वांछित किसी भी वास्तविक डी-एस्केलेशन के लिए नहीं जाना है.चीनियों द्वारा वर्तमान में की जा रही उकसावे वाली कार्रवाई एक हवाई अभ्यास के माध्यम से की जा रही है जिसके तहत उसके लड़ाकू विमान और यहां तक कि ड्रोन भी दोनों पक्षों के बीच 10 किलोमीटर के कॉन्फिडेंस बिल्डिंग मिजर (सीबीएम) वाले समझौते का बार-बार उल्लंघन कर रहे है।LAC पर बदस्तूर

इस समझौते के लिए दोनों  अपने-अपने लड़ाकू विमानों को एलएसी के 10 किलोमीटर के दायरे में आने देना से बचना होता है | LAC पर बदस्तूर जारी है चीन की दबाव बनाने वाली रणनीति -जानिए पूरी जानकरी | Latest News 2022

 

हालांकि, उकसावे का सिलसिला जारी है. सूत्रों ने कहा कि इन उल्लंघनों को भारतीय पक्ष ने 17 जुलाई को हुई पिछली कोर कमांडर स्तर की वार्ता के दौरान उठाया था। उन्होंने बताया की यह चीन के नियमो के बारे में जुडी हुई है। जो वहा की सुरक्षा  बहुत अहम् है। रक्षा और सुरक्षा प्रतिष्ठान से जुड़े एक सूत्र ने कहा, ‘अभी तक चीन द्वारा भारतीय हवाई क्षेत्र का ऐसा कोई उल्लंघन नहीं किया गया है जिससे स्थानीय समझौते का उल्लंघन होता हो.उन्होंने बताया की वे इस मामले में शतर्क है उन्हें इस मामले में जो भयउ चुना मिलती है वो उसके हिसाब से कदम  उठाते है।LAC पर बदस्तूर

चीनियों द्वारा की जा रही एक और प्रमुख उकसावे की कार्रवाई एलएसी के पास एक नया राजमार्ग बनाने की उनकी योजना है जो अक्साई चीन के विवादित क्षेत्र और पूर्वी उन्होंने बताया की लद्दाक में फ़्लिंग पॉइंट मुख्य बिंदु में होकर गुजरेगा।LAC पर बदस्तूर

जी-695 राष्ट्रीय एक्सप्रेसवे के रूप में संदर्भित किया जाने वाला यह राजमार्ग चीन द्वारा हाल ही में सबके सामने पेश किए गए उस नए राष्ट्रीय कार्यक्रम का हिस्सा है। इनका मुख्य उदेश्य यह की 2035 तक 345 नई बुनियादी ढांचे वाली परियोजनाओं का निर्माण करना है। जिसके तहत 4,61,000  लम्बा राजमार्ग बनाया गया है। जो की एक बुनियादी ढांचे को अपने आप मे बदलेगा।LAC पर बदस्तूर

यह तनाव केवल लद्दाख से लगी 1,597 किलोमीटर की सीमा तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह एलएसी के पूर्वी क्षेत्र तक फैला हुआ है जहां चीनी पक्ष एलएसी के करीब गांवों को बसाने सहित बुनियादी ढांचे के निर्माण में व्यस्त है।LAC पर बदस्तूर

चीनी विकास कार्यक्रम के बारे में बात करते हुए सूत्रों ने कहा कि चीन वायु सेना के मामले में तिब्बत क्षेत्र में अपनी अपेक्षाकृत कमजोर स्थिति का मुकाबला करने की कोशिश कर रहा है.

सूत्रों ने यह भी कहा कि चीन लगातार वास्तविक नियंत्रण रेखा पर आर्मरड पर्सनेल कर्रिएर्स (सैनिकों के लिए बख्तरबंद वाहन), तोपखाने और वायु रक्षा प्रणालियों की अपनी नवीनतम श्रृंखला को शामिल कर रहा है।LAC पर बदस्तूर

एक दूसरे स्रोत ने कहा, ‘चीन सैनिकों की भी तेजी से रोटेशन (एक सैनिक की जगह दूसरे की तैनाती) कर रहा सूत्रों का कहना है कि चीनी कई स्थानों पर अपने सैनिकों के लिए हजारों बिलेट (निजी आवास का भाग जहां सैनिक अस्‍थायी रूप से टिकते हैं) के अलावा सड़क के बुनियादी ढांचे के निर्माण।

 

इसे भी पढ़े :-

विजय देवरकोंडा के साथ तरेरन के सफर निकली अनन्या पांडे, फोटो वायरल | Latest Updates 2022

Masked Aadhar क्या है जानिए इसके फायदे और नुकसान | Latest Updates 2022

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button