Home खबर JEE Main 2021 : तीन नहीं अब 11 भाषाओं में होगी जेईई...

JEE Main 2021 : तीन नहीं अब 11 भाषाओं में होगी जेईई की मुख्य परीक्षा ( Joint Entrance Examination main )

159
0
JEE Main 2021 : तीन नहीं अब 11 भाषाओं में होगी जेईई की मुख्य परीक्षा ( Joint Entrance Examination main )
JEE Main 2021 : तीन नहीं अब 11 भाषाओं में होगी जेईई की मुख्य परीक्षा ( Joint Entrance Examination main )

इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमीशन लेने वाले स्टूडेंट के लिए खुशखबरी आ रही है Joint Entrance Examination main (JEE main) की मुख्य परीक्षा अब 3 नहीं बल्कि 8 और नयी भाषाओ में होगी यानी की अब 11 भाषाओं में इसका एग्जाम होगा। जिसे Ministry of Human Resource Development (मानव संसाधन मंत्रालय, भारत सरकार) द्वारा स्वीकार कर लिया गया है मंत्रालय ने पेपर आयोजित कराने वाली एजेंसी राष्टीय परीक्षण एजेंसी ( National Testing Agency, NTA ) को जरुरी निर्देश और सलाह दी है।

SSC MTS परीक्षा का रिजल्ट जल्द होगा जारी यह रही लिंक डायरेक्ट चेक करे

हालाँकि इसका फायदा जो 2020 में होने वाले Joint Entrance Examination main (JEE main) 2020  में बैठने वाले स्टूडेंट को नहीं हो सकेगा यह नियम JEE main 2021 में लागु होगा क्युकी आने वाले साल में JEE main 2020 की परीक्षा 6 से 11 जनवरी तक आयोजित की गई है जिसका पूरा कब लगभग अब तक पूरा हो चूका है बस एग्जाम लेना बाकि है JEE main की परीक्षा इससे पहले हिंदी, अंग्रेजी, और गुजरती भाषा पर ही होता था।

Ministry of Human Resource Development
Ministry of Human Resource Development

सूत्रों के मुताबिक खबर मिली है की JEE main 2021 की परीक्षा अब कम से कम 11 भाषाओ में आयोजित करने की तैयारी चल रही है हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती के आल्वा अब इन 8 भाषाओ असमी, बंगाली, कन्नड़, मराठी, तेलुगु, उड़िया और उर्दू  में भी JEE main का एग्जाम होगा।

तमिलनाडु लोक सेवक आयोग ( TNPSC ) ने ग्रुप-4 का रिजल्ट किया जारी, कैसे देखे रिजल्ट

आपको बता दे की इससे पहले बंगाल की मुख्यमंत्री ने JEE main में होने वाली गुजराती भाषा का बहिष्कार करि थी और बोली थी की JEE main का एग्जाम अगर क्षेत्रीय भाषा के आधार पर होता है तो बंगला सहित सभी क्षेत्रीय भाषा में इसका एग्जाम होना चाहिए कह कर गुजराती भाषा पर वार करि थी साथ ही उन्होंने कहा था की मुझे गुजराती भाषा से कोई परेशानी नहीं है और गुजराती समझती भी हूँ अब सभी क्षेत्रीय भाषा को JEE main एग्जाम में जोड़ देना चाहिए साथ ही ममता ने कहा था की क्षेत्रीय भाषा के आधार पर भेदभाव किया जा रहा है हलांकि इन सभी के बाद राष्टीय परीक्षण एजेंसी ने अपने जवाब में कही थी की गुजरात के आल्वा किसी दूसरे राज्य ने इसे क्षेत्रीय भाषा में कराने का अनुरोध नहीं करि थी।

लेकिन अब राष्टीय परीक्षण एजेंसी ने जेईई मेंस जनवरी 2021 की तैयारी शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here