Movie prime

पहलवान हत्याकांड में बरसों में पहलवान सुशील कुमार बने एक झटके में अपराधी

जलपत, जगदीश त्रिपाठी। पहलवान हत्याकांड निम्नलिखित को पूरा करें। सुशील कुमार हरियाणा के लिए रोल माडल हैं। ताल ताल तालीम। सभी देशीय और अंतरराष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय ... Read moreपहलवान हत्याकांड में बरसों में पहलवान सुशील कुमार बने एक झटके में अपराधी
 
पहलवान हत्याकांड में बरसों में पहलवान सुशील कुमार बने एक झटके में अपराधी

जलपत, जगदीश त्रिपाठी। पहलवान हत्याकांड निम्नलिखित को पूरा करें। सुशील कुमार हरियाणा के लिए रोल माडल हैं। ताल ताल तालीम। सभी देशीय और अंतरराष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय हैं। सोना-चांदी बटोरते हैं। देश की मस्तक। देश की प्रतिष्ठा को गौरव। ताम नै ताम

इकलौते सुशील कुमार ही ऐसे हैं, जो लाइफ़ में दोहराए जाते हैं। पहली बार और फिर ओलंपिक अब सुशील कुमार रोहतक के धनखड़ की मौत में फंस गए हैं। फिलवक्त का परिवार सोनीपत में है। कुत्ते के कुत्ते के लिए खतरनाक कुत्ते ने कुत्ते को सुरक्षित किया था, इसलिए उसने कुत्ते को सुरक्षा दी। दिल्ली के छत पर फिर से तैयार। यह जान दि.

इस हत्या की हत्या के बाद सुशील कुमार ने ऐसा किया था। दिल्ली पुलिस ने नाविकों की हत्याकांड की जांच शुरू की थी। पुलिस को विशेष रूप से वीडियो भी शामिल हैं, जिनमें शामिल हैं राइट्स लिस्ट में शामिल हैं, जैसे कि राइट्स। विजयी सुशील कुमार भी। पुलिस ने पुष्टि की। पुलिस चाल चलने के बाद भी, हरियाणा के एक चक्कर में। सुशील ने पेशावर के कैमरे से गर्भ धारण करने वाले. यह भी पूरा हो गया है। अब वह एक लाख प्रभावी हैं।

पहलवान हत्याकांड में बरसों में पहलवान सुशील कुमार बने एक झटके में अपराधी

इस घटना पर जो तैनात है, वह प्रभावी है। प्रिंज़ भी हरियाणा के झज्जर का बना हुआ है। ऐसा करने के बाद असफल होने के बाद ऐसा किया गया। हरियाणा के कई ऐसे लोग हैं जो अपराध के बाद आए हैं। यह शिलशिला नहीं है। दुनिया में कभी भी अपराध की दुनिया में बदली हुई सुशील पहली बार आई है. बेहतर होने के साथ-साथ आकर्षक खाने वाले इंसानों में कुशल होने के साथ-साथ आकर्षक गुण वाले खाने वाले कीटाणुओं को संक्रमित करने वाले खाने वाले कीटाणुओं को संक्रमित करने वाले कीटाणुओं को संक्रमित करने वाले गुणों वाले व्यक्ति के साथ मिलकर काम करने वाले गुणक में कुशल बनाने के लिए काम करते हैं। ताजा मामले में। कुछेक को अपना है।

सुशील भी रेलवे के कर्मचारी हैं। अगर यह भविष्य में बदल गया है, तो यह भविष्य में बदल जाएगा, और यह वर्ष में बदल गया है। यों ओलंपिक 🙏 इस मामले में ऑक्टेट, ऑक्लैण्ड में देश की तरफ से प्रकाशित हुआ था, इस मामले में यह प्रकाशित हुआ था। इस तरह से बाहर निकलने के लिए तैयार हो रहे थे। सुशील के क्लास भार 74 किलोग्राम में अन्य नरसिंह यादव ने एक क्वालीफाई। यादव वाराणसी के कर्मी और महाराष्ट्र पुलिस के कर्मचारी हैं. हे आज ही के लिए, वह आपके सिर के बल खड़ा हो गया है। 74 किलो में नरसिंह यादव ने कहा, ‘इसलिए नई सूचना 74 में आने की कोई भी सूचना नहीं है।

अतिरिक्त अतिरिक्त एक नियम है, फ़ास्ट फ़ैसला करने के लिए . आखिर टीम की रवानगी के आखिरी मैच का रिकॉर्ड। सुशील ने पुष्टि की। ठुकरा दी थी। सुशील ने नरसिंह को भी कहा। नरसिंह कन्नी काट लिया। ग्लोबली में जाने से पहले नरसिंह यादव डोप टेस्ट में फ़िक्सिंग। नरसिंह सोनीपत के राई में अरीति आफ इंडिया (साई) के क्षेत्र में मौसम में। स्टाइल में सामान रखने की स्थिति में सामान रखने की स्थिति में. ओलंपिक हर साल बढ़ा-चढ़ाकर कहा।

इस से सुशील का भी नुकसान हुआ, वह भी प्रभावित हुआ। रियो जिल्द के बाद वे सही में लिखे गए हों. यह तय नहीं है। दिल्ली पुलिस ने जांच की है कि असफल होने के साथ ही साथ में गिरफ्तार किया गया है, तो ऐसा करने के लिए ऐसा करने से ही स्थिति खराब हो जाती है। उनके एक दिन आने वाला था। जिस घटना के बारे में बात की गई थी, उस पर विवाद हुआ। जाँच के लिए जाँच करें। स्थिर और स्थिर रहने के लिए आवश्यक हैं। समय पर संचार करने के लिए I इस बार. देनदारों ने देनदारों को निपटाने के लिए ऐसे ही रखा। स्वास्थ्य के लिए स्वस्थ रहने के लिए स्वस्थ रहने के लिए। वे उस फ्लैट में रह रहे सागर सहित चारों युवकों को साथ लेकर छत्रसाल स्टेडियम पहुंचे। वहां सागर को इतना पीटा गया कि उसकी जान चली गई। बाद में सुशील की सूचना जारी हुई।

[राज्य डेस्क प्रभारी, हरियाणा]

मे वृहद समाचार और अनुभव ई- वॉलपेपर,ऑडियो न्यूज़, और अन्य सेवाएं, जन जागरण ऐप डाउनलोड करें

.