Movie prime
मोहम्मद यूसुफ खान से कैसे बने Dilip Kumar? जाने क्या है इसके पीछे की पूरी कहानी
 

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करेंगे बॉलीवुड के लेजेंड सुपरस्टार दिलीप कुमार जी के बारे में की कैसे मोहम्मद यूसुफ खान से वह Dilip Kumar? बने आइए जानते है। 

जैसा की दोस्तों आप सभी को इस बात का तो पता होगा ही दिलीप कुमार बहुत लम्बे समय से बीमार चल रहे थे जिसकी वजह से उन्हें बार-बार अस्पताल भर्ती करवाया जा रहा था। मगर आपको बता दूँ की इस खबर को सुनकर आप सभी लोगो को दुःख होगा। 30 जून को एक बार फिर सांस लेने में दिक्कत होने की वजह से उन्हें मुंबई के हिंदुजा अस्पताल के ICU में भर्ती थे। आज सुबह यानी की 7 जुलाई 2021 की सुबह उनकी मृत्यु हो गई। बॉलीवुड से लेकर उनके फैन सभी आज उनको नम्र याद कर रहे है और उनको श्रदांजलि अर्पण कर रहे है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मोहम्मद यूसुफ खान आखिर कैसे बॉलीवुड के सबसे अधिक पसंद किये जाने वाले सितारे बने। आइए जानते हैं उनके यूसुफ से दिलीप बनने की कहानी...

पूरी दुनिया में दिलीप कुमार के नाम से पहचान पाने वाले यूसुफ को शायद पता भी नहीं होगा कि किस्मत ने उनके लिए कितना बड़ा दरवाजा चुन रखा है। आपको जानकर हैरानी होगी कि जिनके अभिनय की मिसालें दी जाती हैं, उनकी ना तो फिल्मों में काम करने की दिलचस्पी थी और ना ही अपना नाम बदलने में। लेकिन दिलीप कुमार के पिता मुंबई में फलों का व्यापार करने आए थे। शुरुआती दिनों से ही दिलीप कुमार भी अपने पिता की मदद करते। उस दौरान वह कारोबारी मोहम्मद सरवर खान के बेटे यूसुफ सरवर खान के नाम से जाने जाते थे। 

दिलीप कुमार को स्क्रीन पर मौका देने वाली बॉम्बे टॉकीज की मालकिन उस समय देविका रानी थीं। जब फिल्म में मौका मिला तो रिलीज के पहले एक बार देविका ने उन्हें अपने केबिन में बुलाया था। इस मुलाकात के बारे में दिलीप कुमार ने अपनी आत्मकथा 'द सबस्टैंस एंड द शैडो' में लिखा है, 'उन्होंने कहा- यूसुफ मैं तुम्हें जल्द से जल्द एक्टर के तौर पर लॉन्च करना चाहती हूं। ऐसे में यह विचार बुरा नहीं है कि तुम्हारा एक स्क्रीन नाम हो। ऐसा नाम जिससे दुनिया तुम्हें जानेगी और ऑडियंस तुम्हारी रोमांटिक इमेज को उससे जोड़कर देखेगी। मेरे ख़याल से दिलीप कुमार एक अच्छा नाम है। जब मैं तुम्हारे नाम के बारे में सोच रही थी तो ये नाम अचानक मेरे दिमाग में आया। तुम्हें यह नाम कैसा लग रहा है?

इस बात पर पहले तो दिलीप कुमार ने मना कर दिया था मगर बाद में राजी हो गए थे जिसकी वजह से आज वह बॉलीवुड के सबसे चाहते स्टार है।

वही आपको एक बार फिर बता दूँ की आज सुबह दिलीप कुमार हम सबको हमेशा के लिए अलविदा कहकर चले गए।