Home Uncategorized अलवर के राहिल मोहम्मद के एप्स से लाखों विद्यार्थी कर रहे हैं...

अलवर के राहिल मोहम्मद के एप्स से लाखों विद्यार्थी कर रहे हैं बोर्ड एग्जाम की तैयारी

8
0

अलवर के राहिल मोहम्मद के एप्स से लाखों विद्यार्थी कर रहे हैं बोर्ड एग्जाम की तैयारी

प्रतिभाएं कभी सुविधाओं की मोहताज नहीं होती हैं। सीमित संसाधनों में ही कुछ बड़ा कर दिखाने वाली प्रतिभाओं की हमारे देश में कोई कमी नहीं है। राजस्थान के अलवर जिले के एक छोटे से गांव मौजपुर लक्ष्मणगढ़ के रहने वाले राहिल मोहम्मद ने 16 वर्ष की उम्र में ही कई सारे ऐप डेवलप कर दिए | उन्होंने किसी बड़े इंस्टीट्यूट से शिक्षा हासिल नहीं की। अपनी खुद की मेहनत के बूते उन्होंने इतने ऐप बनाए कि उनका नाम देश के सबसे युवा डेवलपर्स में शुमार किया जाता है। राहिल मोहम्मद उसी शहर के रहने वाले जिस शहर के प्रसिद्ध ऐप डेवलपर इमरान खान रहने वाले हैं। इमरान खान की पीएम मोदी ने लन्दन के वेम्बले स्टेडियम में तारीफ की थी। उनसे ही प्रेरणा हासिल करके राहिल मोहम्मद ने ऐप की दुनिया में कदम रखा |

 

आइए आज आपको राहिल मोहम्मद खान के बारे में बताते हैं… परिचय राहिल का जन्म 3 सितंबर, 2000 को एक आम से गांव मौजपुर में हुआ। यह गांव अलवर जिला की लक्ष्मणगढ़ तहसील में आता है। उनके पिता सरकारी शिक्षक हैं और मां गृहिणी हैं। बीएससी कर रहे राहिल ने कोई खास संसाधन की उपलब्धता के बगैर कई ऐप बना दिए हैं। 12वीं क्लास के रसायन विज्ञान और भौतिक विज्ञान के उनके एप को 1 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स पढ़ रहे हैं। कैसे आया ऐप बनाने का आइडिया? साल 2015 की बात है। उस समय आम छात्रों की तरह ही राहिल भी 10वीं क्लास की तैयारी कर रहे थे। पीएम मोदी लन्दन के वेम्बले स्टेडियम में अलवर के प्रसिद्ध ऐप डेवलपर इमरान खान की तारीफ करते हैं। उनकी तारीफ सुनकर राहिल के मन में भी देश के लिए और देश के भविष्य यानी छात्रों के लिए कुछ करने का आइडिया आता है। राहिल भी छात्रों के लिए ऐप बनाने का फैसला करते हैं। लेकिन उनके पास समस्याओं का पहाड़ होता है। सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि उनके आस पास कोई संस्थान नहीं होता है जहां जाकर ऐप तैयार करने की बारीकियों को सीख सकें और संसाधनों का भी अभाव होता है। ऐसे में राहिल को गूगल की मदद लेने का आइडिया आता है। स्कूल से आने के बाद वह अपना पूरा समय गूगल पर बिताते । इस तरह से वह एचटीएमएल, सीएसएस, जावा, एक्सएमएल, पीएचपी आदि पर मजबूत पकड़ बना लेते हैं। शुरुआत उन्होंने ब्लॉगर पर अपना ब्लॉग बनाकर किया । इसके बाद राहिल ने अपना ब्लॉग बनाया और कोडिंग के द्वारा उसे खुद डिजाइन करने लगा । उनकी वेबसाइट अच्छे से डिजाइन हो गई थी और अच्छी भी लग रही थी। यह देख कर उनके अंदर कॉन्फिडेंस आया और आगे बढ़ने का जोश मिला। राहिल कहते हैं कि आप अपना रास्ता खुद चुनते हैं और आपको खुद ही आगे बढ़ना होता है। लोग आपको यह तो बता सकते हैं कि यह रास्ता है, पर इस पर आगे कैसे बढ़ना है। वह आपको खुद तय करना होता । इमरान खान से मिली मदद नया लैपटॉप खरीदने के बाद राहिल ने हिंदी व्याकरण के लिए अपना पहला ऐप बनाया। पहले उन्होंने इमरान खान को ऐप दिखाया और उनके सुझाव मांगे। यह जानकर इमरान को बहुत खुशी हुई कि उनके क्षेत्र का कोई ऐप बनाने में जिज्ञासा दिखा रहा है। इमरान खान ने ऐप डेवलपिंग में राहिल की हर संभव सहायता की। उन्होंने राहिल को बताया कि ऐप को प्ले स्टोर पर कैसे डालना है। जिस वक्त उन्होंने पहला ऐप लाइव किया उस वक्त उनकी उम्र 16 थी और वह 11वीं क्लास में पढ़ रहे थे। उस ऐप को लोगों का अच्छा रिस्पॉन्स मिला जिससे राहिल आगे और ऐप बनाने के लिए प्रेरित हुए। फिर उन्होंने एक के बाद एक 15 ऐप बना डाले । मिले कई सम्मान उनको अब कई कार्यक्रमों में मोटिवेशनल स्पीकर के तौर पर बुलाया जाता है। सबसे पहले 19 नवंबर, 2018 को इग्नाईट टॉक्स, जयपुर द्वारा उनको अग्रवाल पीजी कॉलज, जयपुर में गेस्ट के रूप में मोटिवेशनल स्पीकर के तौर पर आमंत्रित किया गया। उन्होंने वहां अपने जीवन के सफर के बारे में बताया जिससे बहुत से विद्यार्थी प्रेरित हुए। 17 जून को उनको गूगल वेबमास्टर कॉन्फ्रेंस 2019 में बुलाया गया। राहिल खान को उनके उल्लेखनीय काम के लिए कई अवॉर्ड से पुरस्कृत किया गया है। 1 जून, 2019 को उनको आंत्रप्रन्योर लाइव नेटवर्क की ओर से इंडिया यंग अचीवर्स अवॉर्ड 2019 से नवाजा गया। 26 जून 2019 को उनको अलवर जिला के कलेक्टर इंद्रजीत सिंह द्वारा सम्मानित किया गया। 28 जुलाई, 2019 को राहिल को राष्ट्रीय स्टार डायमंड अचीवर्स अवार्ड 2019 से बीकानेर में सम्मानित किया गया। 13 जनवरी 2020 को राहिल मोहम्मद को इण्डिया वालंटियर अवार्ड से नवाजा गया | 14 फरवरी 2020 को राहिल मोहम्मद का नाम इण्डिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में दर्ज किया गया |

Next articleव्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, फेसबुक डाउन ग्लोबली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here