Home खबर 15 दिन के अंदर दूसरा ग्रहण लगने जा रहा है, पूरी दुनिया...

15 दिन के अंदर दूसरा ग्रहण लगने जा रहा है, पूरी दुनिया में मचेगी उथल-पुथल

67
0
15 दिन के अंदर दूसरा ग्रहण लगने जा रहा है, पूरी दुनिया में मचेगी उथल-पुथल
15 दिन के अंदर दूसरा ग्रहण लगने जा रहा है, पूरी दुनिया में मचेगी उथल-पुथल

आपको ये तो पता होगा ही की अभी थोड़े दिन पहले यानी की 26 दिसम्बर 2019 के दिन ग्रहण लगा था और अब आपको बता दूँ की 2020 का पहला ग्रहण जो की 15 दिन के अंदर दूसरा ग्रहण लगने वाला है। जी है साल का पहला ग्रहण 10 जनवरी 2020 को लगने जा रहा है।

इस दिन लगने वाला चंद्र ग्रहण प्रच्छाया चंद्र ग्रहण है इस ग्रहण को आँखों से नहीं देखा जा सकता है। इस ग्रहण में चंद्र की सुंदरता में कमी आएगी और चन्द्रमा धुंधला दिखाई देगा। इस ग्रहण का भी उतना ही प्रभाव होगा जितना की बाकी सामान्य ग्रहण का होता है। आइए हम बताते है आपको क्यों है यह ग्रहण खास।

देखे किस राशि का योगफल अच्छा है AAJ के दिन, जाने किसे क्या मिलने वाला है

15 दिन के अंदर ही दूसरा ग्रहण लगने से मतलब है की एक ही पखवाड़े में दो ग्रहण का योग बनाना है। इस साल कुल 6 ग्रहण लगेंगे जिनमे से 2 सूर्य ग्रहण और बाकि 4 चन्द्र ग्रहण होंगे। ज्योतिषो के अनुसार जब कभी 15 दिन के भीतर 2 ग्रहण लगते है तो पृथ्वी के पलेटो के टकराने की संभावना बढ़ जाती है। और इसका असर पूरी दुनिया में भी देखने को मिल सकता है।

15 दिन के अंदर दूसरा ग्रहण लगने जा रहा है, पूरी दुनिया में मचेगी उथल-पुथल
15 दिन के अंदर दूसरा ग्रहण लगने जा रहा है, पूरी दुनिया में मचेगी उथल-पुथल

इस ग्रहण का बीच का भाग समुन्द्र की तरफ पड़ रहा है इसी वजह से पानी से सम्बंधित आपदा आने की संभावना अधिक है। ये ग्रहण मिथुन राशि और पुनवर्सु नक्षत्र में पड़ रहा है। पुनवर्सु नक्षत्र बृहस्पति का नक्षत्र होता है।

26 दिसंबर 2019 का सूर्य ग्रहण धनु राशि में पड़ा था और ग्रहण का प्रभाव 15 दिन तक रहता है इसी वजह से किसी ना किसी तरह की धार्मिक उन्माद होने की संभावना बड़ जाती है। जैसा की आप अभी अमेरिका और ईरान के बीच में हो रही लड़ाई को इससे जोड़कर देख सकते है। अमेरिका और ईरान के बीच चल रहे विवाद की वजह से कई विनाशकरी स्थिति हो सकती है इसके आलावा भारत समेत पूरी दुनिया में मौसम है हाल बेहाल हो सकता है। दुनिया में कही सर्दी तो कही गर्मी तो कई जंगल में भीषण आग लगने की खबर आ रही है।

आपको बता दूँ की इस ग्रहण में पांच ग्रहण एक साथ नज़र आएंगे और जबकि चन्द्रमा और राहु एक साथ नज़र आएंगे। अच्छी बातो तो यह है की युद्ध के लिए जिस मंगल ग्रह को कारक मना जाता है वे इस परिधि से दूर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here