जामुन

जामुन के फायदे, सिर्फ फल ही नहीं, गुठली और पेड़ की छाल भी है फायदेमंद | To Day Updates

गर्मियों और बरसात के मौसम में एक फल ऐसा भी आता हैं जो देखने में तो छोटा और काले रंग का होता हैं लेकिन उसकी बहुत सी खूबियां होती हैं। ये है जामुनी रंग का जामुन जो मीठा होता हैं।

अंग्रेजी भाषा में जामुन को ब्लैक बेरी कहा जाता है। आयुर्वेद के अनुसार जामुन के बहुत सारे औषधीय गुण होते हैं। आयुर्वेद में जामुन को डायबिटीज के कंट्रोल के लिए बेहद फायदेमंद माना गया है। इसके साथ ही जामुन पाचन को बेहतर बनाने से लेकर किडनी स्टोन के इलाज में भी बहुत फायदेमंद माना जाता है।

आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेड भरपूर मात्रा में होते हैं। जामुन का सिर्फ फल ही नहीं, इसके पेड़ की छाल, पत्तियां और फल की गुठली भी बहुत फायदेमंद होती है। बड़ों के साथ ही ये फल बच्चों के  स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद माना जाता है। चलिए आपको बताते हैं जामुन के स्वास्थ्य को फायदे।

पिंपल्स दूर करने में असरदार

बढ़ते स्ट्रेस, हॉर्मोनल डिस्बैलेंस और जंकफ़ूड के सेवन की वजह आजकल पिंपल्स होना एक आम समस्या हो गयी है। जामुन के रस का उपयोग पिंपल्स को कम करने किया जाता है।

इसकी पत्तियों के रस को स्किन पर लगाने से ये स्किन पर बढ़ते हुए ऑइल और सीबम के सेक्रेशन को रोकता है। इससे पिंपल्स की समस्याओ में आराम मिलता है।

जामुन
जामुन

रक्त को शुद्ध करे

यह बहुत से गुणों से भरपूर फल है। ये बाहर और भीतर दोनों तरह से शरीर को साफ करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। छाल एक ब्लड प्यूरीफायर है |

जो आपके खून को अंदर से साफ करते हुए आपकी स्किन का बाहर से ख्याल रखती है। अगर आपका खून प्यूरीफाइड तो आपका मेटाबॉलिज्म अच्छा रहता है और आपकी स्किन खूबसूरत नजर आती है।

आंखों के लिए फायदे

आंखों में जलन, कीचड आना और दर्द आज के समय की सच्चाई बन गए हैं। लगातार इलेक्ट्रॉनिक स्क्रीन के सामने बैठना आंखों के लिए खतरनाक है। बच्चों हो या बड़े, सभी को आंखों से संबंधित परेशानी होती ही हैं।

15-20 मुलायम पत्तों को 400 मिली पानी में पका लें। जब यह काढ़ा एक चौथाई बच जाए, तो इसे ठंडा करके इससे आंखों को धोएं। इससे आंखों की समस्या में लाभ होता है।

जामुन
जामुन
मुंह के छालों में पत्तों का उपयोग

पेट के गर्म होने, बढ़ने या खानपान में बदलाव के कारण अक्सर लोगों को मुंह के छालों की समस्या से गुजरना पड़ता है। इसके के पत्तों के रस से कुल्ला करने पर मुंह के छालों में आराम होता है।

कसैली तासीर छालों की लाली और इनसे होने वाले दर्द को कम करते हैं। इसके साथ ही जामुन गले में होने वाले दर्द और गले की अन्य समस्याओं से आराम दिलाने  बहुत फायदेमंद है।

जामुन
जामुन
पथरी का इलाज

पथरी का किडनी स्टोन की समस्या भी आजकल बहुत कॉमन हो गयी है। इसमें आराम दिलाने में भी बहुत फायदेमंद साबित होता है। ऐसा कहा जाता है कि पके हुए के फल को खाने से पथरी गल कर निकल जाती है।

इसके साथ ही जामुन के 10 मिली रस में थोड़ा सा सेंधा नमक मिला लें। कुछ दिनों तक दिन में 2-3 बार रोज पीने से यूरिनरी ट्रैक में फंसी हुई पथरी टूटकर पेशाब के साथ बाहर निकल जाती है।

बवासीर

पाइल्स एक ऐसी समस्या है जो किसी को भी परेशान कर सकती है। मल के साथ होने वाला दर्द और खून बहुत परेशानी का कारण बन सकता है। पाइल्स होने पर फूलों के 20 मिली रस में थोड़ी-सी शक्कर मिला लें। इसे दिन में तीन बार पीने से पाइल्स से बहने वाला खून बन्द हो जाता है।

 

Read Also –Health benefits of jamun: वजन कंट्रोल करने और इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार है जामुन, गिन लीजिए फायदे

Read Also –अच्‍छी हेल्‍थ के लिए ये हैं आम के फायदे | Latest Updates 2022

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *