Home क्रिकेट विश्व चैम्पियनशिप: भारत के लिए सबसे कठिन चुनौती

विश्व चैम्पियनशिप: भारत के लिए सबसे कठिन चुनौती

37
0
फाइनल मैच 24 मई 2020 को खेला जायेगा

टीम इंडिया शुक्रवार से बेसिन रिजर्व फास्टपाइक पर पहले टेस्ट में न्यूजीलैंड से भिड़ेगी। यह उसके सामने विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की सबसे कठिन चुनौती होगी। शीर्ष क्रम के विराट कोहली की टीम में 360 अंक हैं, और उसका हाथ कागज पर भारी दिखता है, लेकिन केन विलियमसन की कीवी टीम इन पिचों पर उपयोगी साबित होगी। वेलिंगटन में दो मैचों की श्रृंखला का पहला टेस्ट भारतीय समयानुसार सुबह 4.00 बजे शुरू होगा।
टीम इंडिया को ये साबित करना होगा …

न्यूजीलैंड ने आखिरी बार मार्च 2017 में टेस्ट सीरीज अपने नाम की थी। तब से 10 में से 5 टेस्ट जीते हैं। ऑस्ट्रेलिया से 3-0 से हारने के बाद न्यूजीलैंड का इरादा जीत की राह पर लौटने का होगा, जबकि भारतीय टीम यह साबित करना चाहेगी कि पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में जीत मामूली नहीं थी।

भारतीय टीम का NZ में खराब रिकॉर्ड है।

भारतीय टीम न्यूजीलैंड के पिछले (2013/14) दौरे में 1-0 (2) से हार गई थी। टीम इंडिया ने आखिरी बार 2008/09 में न्यूजीलैंड में 1-0 (3) से जीत दर्ज की थी। भारत ने न्यूज़ीलैंड में अब तक 9 टेस्ट सीरीज़ खेली हैं, जिसमें से उसे 2 में जीत मिली है। उसने पांच सीरीज़ गंवाई हैं, जबकि दो सीरीज़ ड्रा रही हैं।

मयंक-शॉ की सलामी जोड़ी चल पाएगी ..?

बेसिन रिजर्व हमेशा विपरीत दिशा से आने वाली हवाओं के कारण गेंदबाजों और बल्लेबाजों दोनों के लिए चुनौतीपूर्ण रहा है। ऐसे में पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल की नई सलामी जोड़ी को ट्रेंट बोल्ट, टिम साउदी और काइल जैमिसन जैसे शीर्ष गेंदबाजों का सामना करना पड़ेगा, जो टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने जा रहे हैं।
भारतीय मध्यक्रम ने बाएं हाथ के तेज गेंदबाज नील वैगनर की अनुपस्थिति में राहत की सांस ली होगी। वैगनर अपने पहले बच्चे के जन्म के कारण ब्रेक पर हैं। न्यूजीलैंड टीम में ऑलराउंडर डेरिल मिशेल और बाएं हाथ के स्पिनर ऐजाज पटेल को जगह मिलेगी।

टॉस जीतकर कोहली गेंदबाजी कर सकते हैं।

कप्तान कोहली टॉस जीतने के बाद गेंदबाजी का चयन कर सकते हैं, ताकि जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी पिच से शुरुआती मदद का फायदा उठा सकें। कोहली ने खुद स्वीकार किया है कि उनकी टीम को पिच के अनुकूल होने के लिए इंतजार करना होगा, जबकि विलियमसन की टीम इस संयम के लिए जानी जाती है।

भारतीय टीम के प्रबंधन स्पिनर आरके अश्विन को ले सकते हैं, जिनके पास रवींद्र जडेजा से अधिक विविधता है। चोट के बाद ट्रेंट बाउल्ट और भारतीय टीम के ईशांत शर्मा की वापसी से न्यूजीलैंड की टीम मजबूत हुई है। भारतीय टीम तकनीक से भरपूर चेतेश्वर पुजारा, कोहली और अजिंक्य रहाणे पर भरोसा करेगी।

टीमें इस प्रकार हैं –

भारत: विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, रिद्धिमान साहा, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा।

न्यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्तान), टॉम ब्लंडेल, ट्रेंट बाउल्ट, कॉलिन डी ग्रैंडहोम, काइल जैमिसन, टॉम लाथम, डेरिल मिशेल, हेनरी निकोल्स, ऐजाज पटेल, टिम साउदी, रॉस टेलर, बीजे वाटलिंग।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here