Movie prime

बिहार, यूपी और झारखंड जाने वाले प्रवासी मजदूर ध्यान दें, श्रमिक ट्रेन से पहले जाना है तो जान लें सब कुछ

कोरोना वायरस के बाद लॉकडाउन जारी होने के बाद जो प्रवासी मजदूर, स्टूडेंट्स और पर्यटक कई जगहों पर फंसे हुए हैं उनके लिए अब सरकार ... Read moreबिहार, यूपी और झारखंड जाने वाले प्रवासी मजदूर ध्यान दें, श्रमिक ट्रेन से पहले जाना है तो जान लें सब कुछ
 
बिहार, यूपी और झारखंड जाने वाले प्रवासी मजदूर ध्यान दें, श्रमिक ट्रेन से पहले जाना है तो जान लें सब कुछ

कोरोना वायरस के बाद लॉकडाउन जारी होने के बाद जो प्रवासी मजदूर, स्टूडेंट्स और पर्यटक कई जगहों पर फंसे हुए हैं उनके लिए अब सरकार ने स्पेशल ट्रेनें चला दी है। अब यूपी, बिहार, झारखंड समेत कई राज्यों के प्रवासी मजदूर ट्रेन के माध्यम से अपने घरों को जा सकेंगे। लेकिन बहुत सी बातें हैं जो ध्यान रखना जरूरी है।

तेलंगाना से झारखंड के लिए पहली ट्रेन
केंद्र सरकार के निर्देश के बाद पहली ट्रेन तेलंगाना से झारखंड के लिए खुली। इस ट्रेन में करीब 1200 प्रवासी मजदूर सवार थे। इतना ही नहीं, शुक्रवार को अलग-अलग रूट पर कुल छह स्‍पेशल ट्रेनें चलाई गईं। घर वापसी के लिए दोनों राज्यों की सहमति भी होना जरुरी है।

लिस्ट में नाम होना जरुरी
जिनका रजिस्ट्रेशन हो चूका है वही इसमें यात्रा कर पाएंगे और इसकी लिस्ट भी जारी की जाएगी। जिनका नाम लिस्ट में हैं वही सफर कर पाएंगे। प्रवासी मजदूरों और स्‍टूडेंट्स आदि को इसके लिए अप्लाई करना होगा। राज्य सरकार संबंधित राज्य में नोडल अधिकारी नियुक्त करेगी और नोडल ऑफिसर जो सूची तैयार करेंगे, वही रेलवे को सौंपी जाएगी। ये लिस्ट रेलवे को दी जाएगी और जिसका इस लिस्ट में नाम होगा उन्हें सफर करने का मौका मिलेगा।

जांच होगी पहले
ट्रेन में सफर करने से पहले प्रवासियों की स्क्रीनिंग की जाएगी। जब यात्री कोरोना की स्क्रीनिंग में सही पाया जाएगा तो उसे ट्रेन में बैठने दिया जाएगा। इसके बाद उनके राज्य पहुंच कर जांच होगी। अगर वो सही भी हैं तो उन्हें घर पर भी 14 दिन के होम क्वारंटाइन में रहना होगा।