ट्रेन में भाभी को दिए मजे | 2022 Latest News

ByKusum Yadav

Jul 7, 2022 , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

ट्रेन में भाभी को दिए मजे | 2022 Latest News

 

ट्रेन में भाभी
ट्रेन में भाभी

ट्रेन में मेरी स्लीपर सीट बुक की हुई थी लेकिन जनरल वाले लोग भरे हुए थे. एक भाभी मेरी बर्थ पर बैठ गयी. उस भाभी से कैसे मेरी सेटिंग हुई और कैसे मैंने रात में उसे ट्रेन में उनको कर दिया। ट्रेन में भाभी

मेरे सभी दोस्तों और उनकी सहेलियों को मेरा नमस्कार. मेरा नाम रोहित शर्मा है और मैं बिहार का हूँ. अभी मैं हरियाणा के सोनीपत में रहता हूं. ये बात थोड़े टाइम पहले की है, जब मैं दिल्ली से अपने गांव सोनपुर जा रहा था.

मैं को जॉब नहीं करता, लेकिन में नॉलेज हर तरिके की बातों की रखता हूं. मेरी 2 महीने पहले की मार्केटिंग जॉब लगी थी.अभी मैं अपने किसी जरूरी काम से अपने गांव जा रहा था।

मेरा ट्रेन टिकट आम्रपाली ट्रेन में ऊपर की बर्थ की टिकट थी और कन्फर्म थी. मैं बिलकुल सही समय पर स्टेशन पहुंच गया. मेरे पास सामान में सिर्फ एक बैग और एक चादर ही थी।

ट्रेन अपने टाइम से दस मिनट लेट चली और गाज़ियाबाद के करीब बारिश आने लगी उसके कारण भीड़ और भी बढ़ गयी थी।

मैंने टीटीई को टिकट दिखाया और फिर बाथरूम  से वापस आया तो मेरी बर्थ पर एक भाभी बैठी थीं. भाभी बहुत ही मस्त थी फिर में भी अपनी बर्थ में चला गया। ट्रेन में भाभी

ट्रेन में मिली भाभी

भाभी मुझे ऊपर आते कर कहा की – ये आपकी बर्थ है?
मैंने बोला हां।
फिर वो बोलीं की – ठीक है, मैं अकेली हूँ, थोड़ी देर में टीटीई से अपनी सीट की बात कर लूंगी, अभी भीड़ बहुत ज्यादा है.
मैंने बोला की – कोई बात नहीं, आप यही बैठी रहिए.ट्रेन में भाभी

और फिर मैं अपने फ़ोन में अपने फ़्रेंड्स के साथ लूडो खेलने लग गया मैंने थोड़ी देर बाद देखा कि भाभी बार बार मेरे मोबाइल में देख रही थीं।

मैंने उनसे पूछा की ,खेलोगे क्या तो वो हां बोलीं.
फिर हम दोनों बिना नेट के लूडो खेलने लगे. मैं तो बार बार भाभी की चूचियों को ही देख रहा था.  ये बात भाभी ने समझ ली थी कि मैं उनकी तरफ देख रहा हूँ. भाभी भी बहुत मूड में थीं तो वो भी बिंदास अपनी चूचियों को दिखा रही थी और मजा ले रही थीं। ट्रेन में भाभी

ट्रेन में भाभी
ट्रेन में भाभी

कुछ देर बाद हमने टिफिन निकाल कर खाना खाने लगे. खाना खाने के बाद हम दोनों बातें कर रहे थे.  9 बजे के आस पास मैंने कहा की – भाभी टीटीई तो आया ही नहीं … और बी बहुत भीड़ भी है … आपको ठीक लगे तो आप यही रुक जाओ।
भाभी ने कहा- ठीक है … अब कुछ कर भी नहीं सकते।

फिर मैं सोने की तैयारी करने लगा. मुझे तो बिना चादर ओढ़े नींद ही नहीं आती है, तो मैंने चादर अपने ऊपर कर ली और आधा पैर सीधा करके बैठ गया. भाभी भी वैसे ही बैठ गईंथी . थोड़ी  देर बाद जब डिब्बे की पूरी लाइटें बन्द हो गईं. उस डिब्बे में रात में जलने वाली नीली लाइटें खराब हो गयी थीं … इसलिए घुप्प अंधेरा हो गया था. अभी भाभी का पैर मेरी तरफ था और मेरा पैर उनकी तरफ था.

मैंने भाभी कहा की आपको सोना है तो सो जाओ। ट्रेन में भाभी
फिर वो लेट गयी और में भी।

ट्रेन में भाभी को दिए मजे | 2022 Latest News

भाभी को लगी ठंड

रात को ग्यारह बजे थोड़ी थोड़ी ठंड लगने लगी थी  … तोभाभी ने मेरी चादर को अपने ऊपर कर लिया. मुझे ट्रेन में कभी भी नींद आती नहीं है, मैं जगा हुआ ही था।
भाभी के जिस्म की गर्मी पाकर मेरा तो धीरे धीरे खड़ा होने लगा था. मैं धीरे से अपने एक हाथ को भाभी की जांघों पर लगाने लगा. ट्रेन चलने की वजह से हिलना होता तो मैं और भी ज्यादा छूने लगता उनको।

भाभी ने मेरी इस हरकत पर कुछ भी नहीं किया।

मेने धीरे धीरे उनके जंगो पर हाथ रखा और सहलाने लगा उन्होंने मुझे कुछ भी नहीं बोला में समज गया था की भाभी भी बहुत गर्म है मेने फिर अपने पैर से उनकी चूचियों को सहलाने लगा वो गर्म हो रही थी मेने उनके निचे ऊँगली दाल दी और अंदर बहार करने लगा।

मेने उनसे कहा की आप मेरे पास ही आ जाओ ना फिर उन्होंने चारो तरफ देखा और मेरे तरफ आने लगी हम्म दोनों के पास एक ही चादर थी। ट्रेन में भाभी

फिर मेने उनकी चूचियो को दवाना शुरू कर दिया और हमने रेगुलर पांच मिनट तक किस किया और वो और भी ज्यादा गर्म हो गयी थी तो उन्होंने अपने आप ही पकड़ कर अंदर दाल लिया।

धीरे धीरे मुझे भी मजा आने लगा और उनको भी मेने बहुत ही मजे में उनको किया था। और ऐसे करते करते ही मेरा और भाभी का छूट गया साथ साथ ही।

थोड़ी देर बाद हम दोनों फिर से सीधे होकर लेट गए. मैं भाभी किस करने लगा. भाभी मेरा पूरा साथ दे रही थीं. ट्रेन भी हमारा साथ पूरा दे रही थी।

थोड़ी देर बाद भाभी फिर से जोश में आ गयी और इतने मजे से करने लगी की मुझे इतना अच्छा लग रहा तो मेने भी जोर जोर से पेलना शुरू कर दिया और करते करते एक बाद फिर हमारा साथ साथ हो गया। ट्रेन में भाभी

सुबह एक बार फिर से

रात को 3 या 4 बजे थे, जब ट्रेन स्टेशन पर रुक गई थी. फिर मैंने चाय ले ली और भाभी के साथ आकर चाय पिने लगा।

हम दोनों फिर से एक बार और तैयार हो गए थे करने के लिए। फिर हम दोनों नीचे की सीट पर आ कर बैठे गए . फिर मैंने एक हाथ पजामा के ऊपर से भाभी को सहलाने लगा मुझे एक बार और करना था लेकिन दिन होने के कारण नहीं कर पाया।

और फिर मेने भाभी को बाथरूम में जाने के लिए बोला लेकिन उन्होंने मना कर दिया और बोली की नहीं अभी दिन है अगर कोई प्रॉब्लम हो गयी तो।

मेने ट्रेन में देखा वहां ज्यादा लोग नहीं थे तो कोई प्रॉब्लम नहीं होती। मेने भाभी को बाथरूम में भेज दिया और उनके पीछे पीछे में भी चला गया था।

फिर मेने जाते ही उनको चूमना शुरू किया उनकी चूचिया दवाई और उनका कुरता खोल दिया फिर भाभी ने खुद ही पजामा खोल दिया और मेने उनके अंदर दाल दिया और पूरी स्पीड से करना शुरू किया और भाभी सिसकारियां ले रही थी। ट्रेन में भाभी

ट्रेन में भाभी
ट्रेन में भाभी

और भाभी को करने में मुझे काफी मजा आ रहा था और करते करते हमारा छूट गया। और फिर हम्म बहार आ गया और बाते करने लगे।

थोड़े देर बाद भाभी का स्टेशन आ गया और वो उतर गईं.
थोड़ी देर बाद मेरा स्टेशन भी आ गया और मैं भी भाभी को याद करता हुआ अपने घर चला गया।  ट्रेन में भाभी

Read Also – दारू पार्टी में दोस्त की बीबी ने दिए मजे | 2022 Latest News

Read Also – Latest updats 2022 | किरायेदार भाभी को मजे दिए बहुत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *