द्रौपती मुर्मू ने ओडिशा में बनाई अपनी अगल पहचान -एक नए अध्याय के साथ | Latest Updates 2022

मुर्मू ने ओडिशा में शुरू किया एक नया अध्याय -जानिए कैसे

द्रौपती मुर्मू
द्रौपती मुर्मू

देश की पहली आदिबासी महिला द्रौपती मुर्मू अब कुछ दिन पहले ही भारत की नई राष्ट्रपति बनी है। जिसने हालही में ओडिशा में नया इतिहास रच दिया  है। इसके बारे में पूरी जानकारी में अपनी इस पोस्ट में दे रहा हु.आप यहाँ पर क्लिक करके इसके बारे में पूरी जानकारी देख सकते है। ऐसी ही और खबरों के लिए जुड़े रहे हमारी वबसाईट news7 todays.com से यह सब तरह की खबर आपको देखने क लिए मिलेगी। द्रौपती मुर्मू

भुवनेश्वर, 29 जुलाई (भाषा) ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा है कि देश की 15वीं राष्ट्रपति के रूप में ‘‘मिट्टी की बेटी’’ द्रौपदी मुर्मू के निर्वाचन ने राज्य की गौरवशाली पहचान में एक नया अध्याय जोड़ दिया है। मुर्मू जी पहले भी ओडिशा की मुख्यमंत्री बना चुकी है। जिन्होंने अपने कार्यकाल में वहा पर लोगो की सेवा और सुरक्षा के लिए बहुत से काम किये। उन्हें 22 साल में अपने हस्ताक्षर वाले लेख जो की शपथ ग्रहण समारोह से सुख महसूस कर रही है। द्रौपती मुर्मू

मुर्मू देश के शीर्ष संवैधानिक पद पर आसीन होने वाली राज्य की पहली नागरिक हैं। पटनायक के लेख को उड़िया के सभी प्रमुख समाचार पत्रों में प्रकाशित किया गया था।द्रौपती मुर्मू

ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) के प्रमुख पटनायक ने कहा, ‘‘ओडिशा के सभी 4.5 करोड़ लोगों के लिए यह गर्व की बात है कि सांस्कृतिक रूप से समृद्ध मयूरभंज जिले की एक महिला ने यह उपलब्धि प्राप्त की।… मुर्मू ने हर ओडिशावासी को गौरवान्वित किया है।’द्रौपती मुर्मू

पटनायक ने कहा, ‘‘जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार के रूप में मुर्मू के नाम का प्रस्ताव रखा, तो मैंने तुरंत इसका स्वागत किया।उन्होंने कहा कि उन्होंने ओडिशा के सभी विधायकों से मुर्मू का समर्थन करने की अपील की थी।पटनायक ने ओडिशा के लोगों से मुर्मू के दृष्टिकोण को अपनाने का आह्वान करते हुए अपने लेख को समाप्त किया।द्रौपती मुर्मू

 

द्रौपती मुर्मू ने ओडिशा में बनाई अपनी अगल पहचान -एक नए अध्याय के साथ | Latest Updates 2022

भारत किओ नई राष्ट्पति द्रोपती मुर्मू ने ओडिशा में बेहतर योजनाओ का संचालन किया है। उनका ओडिशा में धूम -धाम से स्वागत भी किया गया था। वहा के बीजू सत्ताऱूक पटनायक ने कहा हैं की ओडिशा के सभी 4.5 करोड़ लोगों के लिए यह गर्व की बात है कि सांस्कृतिक रूप से समृद्ध मयूरभंज जिले की एक महिला ने यह उपलब्धि प्राप्त की मुर्मू ने हर ओडिशावासी को गौरवान्वित किया है।

उन्होंने कहा कि राज्य में शहरी और ग्रामीण दोनों स्थानीय निकाय चुनावों में महिलाओं के लिए पहले ही 50 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया जा चुका है और विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव में उनके लिए 33 प्रतिशत आरक्षण करने की दिशा में काम चल रहा है।

मुर्मू ने वहा पर उपथित सभी को एक न्य सन्देश दिया है की हम कोनसी भी परिस्थिति में हो जब हम की चीज के बारे में सोच लेते है तो भगवान भी हमारी उसे प्राप्त करने में सहायता करते है। वहा के लोगो के हल जानने के बाद उन्होंने कई योजनाओ को भी शुरू किया जो मानवकल्याण के लिए जरुरी था। द्रौपती मुर्मू

ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) के प्रमुख पटनायक ने कहा, ‘‘ओडिशा के सभी 4.5 करोड़ लोगों के लिए यह गर्व की बात है कि सांस्कृतिक रूप से

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह पद की शपथ लेने के बाद राष्ट्र के नाम दिए गए मुर्मू के संबोधन से बहुत प्रभावित हुए, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके निर्वाचन ने साबित कर दिया है कि देश का गरीब व्यक्ति भी सपने देख सकता है और उन्हें हासिल कर सकता है।द्रौपती मुर्मू

 

मुख्य बाते :-

  • मुर्मू ने ओडिशा में नई योजनाओ को शुरू किया।
  • वहा की जनता के बारे पूछते हुए नया  संदेश भी दिया।
  • राष्ट्रपति बनाने के बाद वो अपने पद को अच्छी तरीके से निभाएगी ऐसी लोगो को आसा है।
  • मुर्मू भारत की पहली आदिवासी महिला है जो देश की राष्ट्रपति बनी है।

 

यह भी पढ़े :-

LAC पर बदस्तूर जारी है चीन की दबाव बनाने वाली रणनीति -जानिए पूरी जानकरी | Latest News 2022

मेरे अकेले से क्या होगा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.