Latest News

भारत के जंगलो में अब फिर दौड़ेंगे ‘चीते’ लगभग 74 साल पहले मरे दिए गए थे दो चीते -जानिए | Latest Updates News 2022

भारत के जंगलो में फिर से दौड़ेंगे 'चीते' सरकार ने किये कुछ नया इंतजाम -जानिए आज की नई खबर

भारत के जंगलो में फिर से दौड़ेंगे ‘चीते’ सरकार ने किये कुछ नया इंतजाम -जानिए आज की नई खबर

दौड़ेंगे 'चीते'
दौड़ेंगे ‘चीते’

भारत  के जंगलो में पहले चीतों की बहुत कमी थी। लोग उनका शिकार करके विदेशो में बेच देते थे। लेकिन अब सरकार ने वन्य जीवो की सुरक्षा के लिए बहुत अच्छे इंतजाम किये है। आज से लगभग 74 साल पहले दो चीतों को मार दिए थे। आगे की पूरी जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट news7 todays.com पर जुड़े रहे यहाँ पर आपको हर हरह की खबर देखने को मिलेगी। दौड़ेंगे ‘चीते’

 

सरकार ने उठाये वन्यजीवों के लिए उठाये कदम ?

भारत के जंगलो में एक बार फिर से चीते दोड़ेगे सरकार ने वन्यजीवों के लिए बहुत अच्छे नियम निकाले है। उसकी सुरक्षा को लेकर बहुत पुख्ता इंतजाम किये है। इसके बारे में पूरी जानकरी  के लिए हमारी पोस्ट के अंत तक बने रहे। सं 1948 के दशक में चीतों का खौफ भारत के जंगलो में सबसे ज्यादा था। लेकिन लोगो ने चीतों का शिकार करना शुरू कर दिया उन्हें दूसरे देशो में बेचना शुरू कर दिया।दौड़ेंगे ‘चीते’

जिसकी वजह से चीतों की संख्या में बाहरी कमी आ गयी। कई चीते तो जंगल के कट जाने की वजह से भी जंगलो से बाहर निकल गए। और पहले इतनी टेक्नोलॉजी भी नहीं थी जिसकी वजह से ये पता भी नहीं लगाया जा सकता था की चीतों की संख्या में कमी कैसे आ रही है। लेकिन सरकार ने अब वन्यजीवों की संख्या को  बढ़ाने के लिए और सुरक्षा के लिए बहुत अच्छे इंतजाम किया गया है।

जंगलो में विदेशो से ला लाये जा रहे है चीते -जानिए 

भारत के जंगलो में चीतों की संख्या बढ़ाने ने लिए विदेशो से मगवाये जा रहे है। नमीबिया से 8 चीते भारत मगवाये जा रहे है। जो 15 अगस्त तक भारत आ जायेगे। ये चीते अफ्रीकी देश नमीबिया से आ रहे हैं. सभी 8 चीतों को मध्य प्रदेश के कूनो-पालपुर नेशनल पार्क में रखा जाएगा।चीता दुनिया का संबसे ज्यादा तेज दौड़ने वाला जानवर है जो एक घंटे में 120 किलोमीटर दौड़ सकता है। इस तरह चीता किसी दौड़ किसी स्पोर्ट कार से भी तेज है। चीते का छोटा सिर लम्बी तागे लचीला शरीर उसे गति पकड़ने में मदद करते है।

विदेशो से आने वाले चीते फिर से भारत के जंगलो में अपना बसेरा करेंगे। विदेशो से आने वाले 8 चीते जो 15 अगस्त तक भारत आ जायेगे जिनमे 4 मादा और चार नर है। विदेशो से आने वाले चीते मध्य प्रदेश के कूनो-पालपुर नेशनल पार्क में रखा जायेगा।

सरकार ने उनकी सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किये है। साथ ही साथ उन्हें जिस  कमरों की खास निगरानी में रखा जायेगा।

सरकार वन्य जीवो को लेकर क्या करना चाहती है | भारत के जंगलो में अब फिर दौड़ेंगे ‘चीते’ लगभग 74 साल पहले मरे दिए गए थे दो चीते -जानिए | Latest Updates News 2022 

सरकार ने अबकी बार चीतों के इंतजाम में बहुत कुछ किया है। बताया जाता है की चीतों की उत्पत्ति अमेरिका से हुई थी। यही चीता एक बार फिर से विलुप्ति की कगार पर आ गया है। नेशनल जियोग्राफिक की एक रिपोर्ट बताती है कि इतिहास में दो बार चीतों को विलुप्ति का सामना करना पड़ा है। दौड़ेंगे ‘चीते’

पहली बार एक लाख साल पहले. रिपोर्ट बताती है कि करीब एक लाख साल पहले चीतों ने एशिया, यूरोप और अफ्रीका में फैलना शुरू किया। इनकी आबादी तेजी से बढ़ी होगी किन रिश्तेदार में ही संभोग करने की वजह से इनके जीन में बदलाव होने लगा, जिससे इनकी प्रजनन क्षमता पर असर पड़ा और आबादी घटने लगी। दौड़ेंगे ‘चीते’

भारत में कैसे खत्म हुए चीते?

एक समय था जब भारत में चीतों की अच्छी-खासी आबादी रहती थी। लेकिन राजा-महाराजाओं ने इनका शिकार करना शुरू कर दिया इसके अलावा चीतों की खाल का कारोबार करने के लिए भी इनका शिकार किया जाने लगा. इतना ही नहीं, ब्रिटिश इंडिया के दौर में चीते गांव में घुस आते थे, जिस कारण लोग इन्हें मार देते थे. इन सब वजहों से भारत में इनकी आबादी घटती रही।

Read Also –भारत के जंगलों में फिर दौड़ेंगे ‘चीते’, 74 साल पहले आखिरी तीन चीतों का कर लिया था राजा ने शिकार 

Read Also-हेल्थलीची खाने के फायदे | Latest Update 2022 benefits of eating litchi

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button